रिश्वत लेता सिपाही पकड़ा तो पब्लिक सपोर्ट में सामने आ गई

Tuesday, July 4, 2017

GWALIOR :  ट्रेफिक जांच के दौरान यहां रिश्वत लेते सिपाही का वीडियो वायरल हुआ है। इस वीडियो के वायरल होते ही जहां पुलिस के आला अधिकारियों ने विभागीय कार्रवाई शुरू कर दी वहीं पब्लिक उसके सपोर्ट में आ गई। लोगों ने दावा किया कि यह वसूली सिपाही अपनी जेब भरने के लिए नहीं कर रहा था बल्कि अधिकारियों की मांग पूरी करने के लिए कर रहा था। पुलिस के आला अधिकारी सिपाहियों से वसूली करवाते हैं।

रविवार रात यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। वीडियो में सिपाही एक लड़के से रुपए लेकर जेब में रखते हुए और दूसरी जेब से बाइक की चाबी देते हुए दिख रहा है। वीडियो में घटना शिंदे की छावनी पुलिस चौकी की होना बताई गई है। वीडियो वायरल होने के बाद सिपाही को प्वॉइंट से हटा दिया गया है। सिपाही होमगार्ड सैनिक बताया गया है। उसके विभाग को कार्रवाई के लिए लिखा जा रहा है।

रविवार रात सोशल मीडिया पर आधा मिनट का एक वीडियो वायरल हुआ है। इसमें ट्रैफिक पुलिस की वर्दी पहने हुए एक सिपाही बाइक को छोड़ने की बात कर रहा है। सिपाही ने बाइक सवार से 50 रुपए लिए और जेब में रख लिए। इसके बाद दूसरी तरफ की जेब से गाड़ी की चाबी निकालकर उसे दे दी। साथ ही यह भी कहा कि जल्दी भाग जा, यहां बहुत ट्रैफिक है। यह वीडियो शिंदे की छावनी चेकिंग प्वॉइंट के पास का है।

सिपाही एक ऑटो पार्ट्स शॉप के सामने खड़ा हुआ है। यह वीड़ियो सोमवार सुबह तक कई बार लाइक किया गया है। साथ ही लोगों ने इस पर कमेंट्स भी किए हैं। सुबह वीडियो वायरल होते ही मामले की सूचना ट्रैफिक पुलिस के अधिकारियों तक पहुंच गई।

वायरल हुए वीडियो में दिखने वाला ट्रैफिक का सिपाही नहीं है। बल्कि होमगार्ड सैनिक हरिराम है। जैसे ही अधिकारियों के उसके वीडियो सार्वजनिक होने का पता लगा उन्होंने तत्काल प्रभाव से उसे प्वॉइंट से हटाकर उसके विभाग भेज दिया है। साथ ही होमगार्ड कमांडेंट को सिपाही पर कार्रवाई के लिए पत्र लिखा है।

ये कसे व्यंग्य 
यह तो सिर्फ सिपाही है, पैसा तो अधिकारियों तक भी पहुंचता होगा। इस पर कार्रवाई क्यों चेकिंग प्वाइंट पर जितने भी पुलिसकर्मी और उनके प्रभारी पर कार्रवाई क्यों नहीं की। विपिन राजावत

सिपाही को बकरा बना दिया, जबकि वसूली तो अधिकारी कराते हैं उन पर कब कार्रवाई होगी। पूरे चेकिंग प्वॉइंट को हटाया जाना चाहिए। अतुल सिंह

भैया वसूली करने वाला सिपाही अकेला नहीं है। शहर में ऐसे कई हैं। पर सोचने की बात यह है कि यह सिपाही अपनी मर्जी से वसूली कर रहा है। अधिकारियों का दबाव रहता है। बेचारे इस पर कार्रवाई हो जाएगी। अधिकारियों पर कोई कुछ नहीं बोलेगा। नितिन कुमार

वीडियो वायरल हुआ है। मामले को जांच में लेकर वीडियो में दिखने वाले होमगार्ड के सिपाही हरिराम जो यातायात विभाग में अटैच थे उन्हें हटा दिया गया है। मनोज वर्मा, डीएसपी ट्रैफिक

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week