500 करोड़ का है मप्र प्याज घोटाला: CBI जांच की मांग

Saturday, July 22, 2017

भोपाल। प्याज खरीदी में धांधली उजागर होने के बाद विपक्ष शिवराज सरकार पर हमलावर हो गया है। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने प्याज खरीदी में 500 करोड के घोटाले का आरोप लगाया है और मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि किसानों के नाम पर खरीदी गई प्याज को सड़ा बताकर सरकार ने 500 करोड़ रूपए का घोटाला किया है। उन्होंने कहा कि इसकी पुष्टि हाल ही में एक उच्च अधिकारी की खुलेआम प्याज खरीदी में सौदेबाजी करते हुए हुआ है। उन्होंने कहा कि इस प्रकरण को भी सीबीआई को सौंपा जाना चाहिए। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि किसानों के लिए अधिक प्याज उत्पादन का संकट सरकार के लिए घोटाले का अवसर बन गया। 

उन्होंने कहा कि पिछले साल से सबक न लेते हुए सरकार ने इस साल भी प्याज का उत्पादन अधिक होने की सूचना के बाद भी किसानों को वाजिब दाम मिले इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाए। उन्होंने कहा कि मार्च से मई के बीच में किसान अधिक प्याज उत्पादन को लेकर संकट में था। वह अपनी प्याज सड़कों पर फेंक रहा था। इसकी जानकारी निरंतर मुख्यमंत्री को मिल रही थी, लेकिन उन्होंने किसान के दुख की उपेक्षा की। 

जब प्रदेश में किसान आंदोलन उग्र हो गया तब उन्होंने इसकी घोषणा की, जब तक कि किसान अपनी फसल बेच चुका था या फिर कौड़ियों के दाम पर व्यापारियों को बेच चुका था। उन्होंने कहा कि सरकार की आठ रुपये किलो पर प्याज खरीदी का लाभ कुछ ही किसानों को मिला है, शेष पूरा लाभ सत्ता में बैठे लोगों, व्यापारियों और अफसरों के बीच हुए अनैतिक गठबंधन को मिला है। 

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि पिछले साल भी ऐसा ही हुआ था, किसानों की कम और व्यापारियों एवं दूसरे प्रांतों से सांठगांठ करके लाई गई प्याज की खरीदी हुई और बाद में उसे सड़ना बताकर करोड़ो का खेल किया गया। उन्होंने मुख्यमंत्री के इस बयान की कड़ी आलोचना की जिसमें उन्होंने किसानों का नाम लेकर कहा कि सड़ी प्याज हम खरीदेंगे और फिर सड़ी प्याज सरकार फेंकेगी। 

अजय सिंह ने आरोप लगाया कि प्याज खरीदी में शामिल घोटालेबाजों को मुख्यमंत्री का संरक्षण प्राप्त है। उन्होंने कहा कि प्याज खरीदी की अगर निष्पक्ष जांच हो तो एक बड़ा घोटाला सामने आएगा और कई बड़े चेहरे बेनकाब होंगे।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं