बिहार में लालू का दान घोटाला: 3 साल के बेटे को मिला करोड़ों की जमीन का दान

Tuesday, July 4, 2017

नई दिल्ली। बिहार में लालू प्रसाद यादव परिवार के लिए किया गया दान घोटाला सामने आया है। यहां लालू सरकार के तत्कालीन मंत्री ब्रजबिहार सिंह की पत्नि ने लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप सिंह 13 एकड़ जमीन दान कर दी। दान दस्तावेजों में लिखा गया है कि तेज प्रताप की सेवा से खुश होकर यह दान किया जा रहा है। घोटाले वाली बात यह है कि जब यह दान दस्तावेज हस्ताक्षर किया गया उस समय लालू के बेटे की उम्र 3 साल 8 माह थी। सवाल यह है कि इस उम्र में वो ऐसी कौन सी सेवा कर रहे थे जो 13 एकड़ जमीन दान में मिल गई। कानून के विशेषज्ञ अब किताबें खंगाल रहे हैं कि क्या इस तरह के दान को अपराध माना जा सकता है। दान पत्र लिखने वाली रमादेवी के पति ब्रजबिहारी सिंह की हत्या हो जाने के बाद रमादेवी ने भाजपा ज्वाइन कर ली और इन दिनों वो शिवहर से भाजपा के टिकट पर सांसद हैं। 

उन्होंने बताया कि उनके पति स्वर्गीय बृज बिहारी प्रसाद ने कहा था कि जमीन अगर लालू यादव के नाम से कर दिया जायेगा तो उस क्षेत्र का विकास हो जायेगा क्योंकि उस समय लालू यादव मुख्यमंत्री थे। रजिस्ट्री में तेज प्रताप द्वारा सेवा किये जाने से प्रभावित होकर जमीन लिखने के सवाल पर उन्होंने कहा कि तेज प्रताप क्या सेवा करेगा?  केवल पति के कहने पर ही जमीन लिख दी थी।

मंत्री पद अथवा टिकट के नाम पर जमीन लिखे जाने के सवाल से भी इनकार करते हुए रमा देवी ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है। लोकसभा का टिकट उन्हें 1998 में मिला था। वहीं, पति द्वारा बरगलाकर जमीन रजिस्ट्री करवाए जाने से भी उन्होंने इनकार किया है।

दरअसल, 23 मार्च 1992 को रमा देवी ने लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप के नाम से जमीन रजिस्ट्री स्वेच्छा भाव से सेवा सुश्रुषा के एवज में गिफ्ट की थी। उस समय तेजप्रताप का उम्र 3 वर्ष 8 महीना था। जमीन मुजफ्फरपुर जिले के कुढ़नी थाना क्षेत्र स्थित किशुनपुर मधुबन गांव में दो प्लॉट में 13 एकड़ 12 डिसमिल है। जिसमें एक प्लॉट तीन एकड़ 88 डिसमिल और 9 एकड़ 24 डिसमिल की कीमती जमीन है। उसके कुछ साल बाद ही बृज बिहारी की हत्या हो गई थी। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week