2022 तक बुलंद रहेगा नीतीश कुमार का सितारा: ज्योतिष

Thursday, July 27, 2017

वर्षों पहले चाणक्य ने बिहार मॆ जन्म लिया था उनकी नीतियों ने चंद्रगुप्त को अखंड भारत का सम्राट बना दिया था। उसी बिहार के धरती से आज भी एक से एक विद्वान तेजस्वी लोग जन्म लेते है। बिहार पूर्वी राज्य है पूर्व दिशा तथा राज्य प्रदान करने वाले भगवान सूर्य का पर्व यहां खासतौर से मनाया जाता है। बुद्धि की तेजस्विता यहां अच्छे और बुरे दोनों तरफ़ मिलती है। सबसे ज्यादा आईपीएस देने वाले इस राज्य ने फ़र्जीवाड़े नक़ल से अव्वल आने मॆ भी रिकार्ड बनाया। राजनीति मॆ जहां डाक्टर राजेंद्र प्रसाद जैसे लोग हुए तो लालूप्रसाद यादव जैसे लोग भी हुए। नीतीश कुमार का तो कहना ही क्या मुख्यमंत्री पद से छलाँग लगाकर दूसरे दल के सहयोग से फ़िर मुख्यमंत्री बनना जिसको उन्होने लांछन लगाकर छोड़ा था। यह गजब की कला है नीतीशकुमार मॆ ऐसा बाजीगर तो बिहार मॆ ही हो सकता है।

नीतीश कुमार
नीतीश कुमार का जन्म 1 मार्च 1951 को हुआ उनकी जन्म राशि वृश्चिक है तथा लग्न मिथुन है। मिथुन लग्न का स्वामी बुध भाग्य स्थान मॆ तथा भाग्य का स्वामी शनि चतुर्थ स्थान मॆ स्थित है। भाग्य से जनता और सुख स्थान के राशि परिवर्तन ने इन्हे लोकनायक बनाया। इसी योग के कारण ये बार बार मुख्यमंत्री बनते है। इनके भाग्य स्थान मॆ चार ग्रह है तथा भाग्य का स्वामी जनता स्थान मॆ है। अभी नीतीश को भाग्य स्थान मॆ स्थित राहु की दशा चल रही है जिस भाजपा के बल पर उन्होने सत्ता चलाई उसी को बेदखल कर लालू के दम पर सत्ता मॆ आये अब लालू को किनारे कर फ़िर भाजपा का बिना शर्त सहयोग ले लिया ये है भाग्य का खेल।2022 तक नीतीश का सितारा बुलंद रहेगा। आने वाले कुछ वर्षों तक बिहार की राजनीत नीतीश के इर्दगिर्द ही घुमेगी।
प.चंद्रशेखर नेमा"हिमांशु"
9893280184,7000460931

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week