बारिश: आधे भारत की सड़कें डूबीं, नदियों में बाढ़, 100 मौतें

Thursday, July 20, 2017

नई दिल्ली। हिंदुस्तान में बारिश कहर बनकर बरस रही है। आधे हिंदुस्तान की सड़कें पानी में डूब गई हैं। नदिया उफान पर चल रहीं हैं। अब तक 100 लोगों की बारिश के कारण मौत की खबर आ रही है। दिल्ली-एनसीआर का बुरा हाल हो गया है। पूरा इलाका पानी पानी हो गया है। सैंकड़ों एक्सीडेंट हो चुके हैं। जम्मू-कश्मीर में बादल फट गया है। राजस्थान की नदिया उफान पर हैं। असम में बाढ़ के कारण 53 मौतें हो गईं। पूर्वोत्तर ने 14 मौतों के साथ सारा इलाका बाढ़ की चपेट में है। 

जम्मू-कश्मीर में बादल फटा 
जम्मू-कश्मीर के डोडा में बुधवार रात बादल फटने के बाद एक बड़ा हादसा हुआ है। जानकारी के अनुसार डोडा के ठठरी इलाके में देर रात गांव फटने के बाद कई लोग लापता हो गए। इस हादसे में अब तक दो लोगों के मारे जाने की सूचना है। इस घटना के बाद प्रशासन द्वारा लोगों को रेस्क्यू करने का काम शुरू कर दिया गया है। जानकारी के अनुसार सेना, सीआरपीएफ समेत स्थानीय प्रशासन की ओर से डीसी, एसएसपी और कई अधिकारी मौके पर मौजूद है। 

असम में 53 मौतें, राजस्थान में नदियां उफान पर 
गौरतलब है कि देश के आधे से ज्यादा हिस्से भयानक बाढ़ का कहर झेल रहे हैं और हालात कुछ ऐसे है कि अब तक 80 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। चौंका देने वाली बात है कि अकेले असम में बाढ़ की वजह से करीब 53 लोगों की मौत हो चुकी है। राजस्थान का हाल भी कुछ ऐसा ही है, जहां नदियों और नालों का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। बिहार में भी नदियां अपने स्तर से कहीं ज्यादा बढ़ चुकी है। सूत्रों के मुताबिक यहां पानी के गड्ढे में डूबने से 5 बच्चों की मौत हो गई है।

पूर्वोत्तर में बाढ़ का आतंक, 14 मौतें, सैंकड़ों गायब 
देश के पूर्वोत्तर में भी बाढ़ का आतंक थम नहीं रहा है। अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर में भी बाढ़ व भारी बारिश के चलते जगह-जगह जमीन धंसने की घटनाएं हुई हैं। बीते 11 जुलाई को हुए भूस्खलन में अरुणाचल प्रदेश के पापुमपारे जिले के लापटाप गांव में कई घर बह गए थे जिसमें कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई थी। काजीरंगा नेशनल पार्क में भी पानी भर गया है जिससे एक सींग वाले तीन गैंडों समेत पचास से ज्यादा जानवरों की मौत हो चुकी है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week