10 हजार से शुरू किया था कारोबार, आज 16 हजार करोड़ का मालिक

Saturday, July 29, 2017

लोग इस तरह की सफलताओं को चमत्कार और भगवान का विशेष आशीर्वाद कहकर भुला देते हैं। वो सही कहते हैं, यह चमत्कार ही होता है जब एक व्यक्ति सही दिशा में सोचना शुरू करता है और इसे भगवान का विशेष आशीर्वाद ही कहेंगे जब वो दुनिया की तमाम मान्यताओं का विरोध करते हुए कारोबार को ना केवल शुरू करता है बल्कि जुनून की हद तक उसे सफल बनाने के लिए जुटा रहता है। स्टॉक मार्केट के ट्रेडर और इन्वेस्टर राकेश झुनझुनवाला की कहानी कुछ ऐसी ही है। उन्होंने उस समय शेयर बाजार में निवेश की शुरूआत की जब लोग इसकी तरफ देखना भी पसंद नहीं करते थे। आज भी लोग शेयर बाजार को जुआ मानते हैं परंतु राकेश झुनझुनवाला इसे कुछ और मानते हैं। उनका कहना है कि ये आपकी दूरदर्शिता पर निर्भर करता है। यदि आपमें समझ है तो आप भी करोड़ों कमा सकते हैं। झुनझुनवाला को भारत का वारेन बफे भी कहा जाता है। उन्होंने सही स्ट्रैटजी अपनाकर शेयर बाजार से हजारों करोड़ रुपए कमाए हैं। 

राकेश झुनझुनवाला ने सन 1985 में स्नातक करके फुल टाइम शेयर बाजार में कारोबार शुरू किया, तब सेंसेक्स में केवल 150 कंपनियां ही लिस्टेड थीं। एक आंकलन के अनुसार बीते एक साल में शेयर मार्केट की तेजी के दौर में उन्होने हर सप्ताह औसतन 59 करोड़ रुपए की कमाई की है। वे चाहें तो इससे हर घंटे एक मर्सिडीज बेंज या बीएमडब्ल्यू कार खरीद सकते हैं।

इन शेयरों में कर रहे हैं खरीदारी: 
उन्होंने फिलहाल 30 कंपनियों के शेयरों में पैसा लगाया हुआ है। ब्रोकरेज हाउस एसीई इन्वेस्टर्स के अनुसार, उन्होंने पिछली तिमाही (अप्रैल-जून) में करीब 16 कंपनियों के शेयरों की हिस्सेदारी में बदलाव किया है। 30 शेयरों में से 8 शेयरों में 28 फीसदी तक की गिरावट दर्ज हुई है। उन्होंने फिलहाल अरबिंदो फार्मा में अपनी हिस्सेदारी 1.08 फीसदी से बढ़ाकर 1.12 फीसदी की है।

व्यापार में निवेश करें, न कि किसी कंपनी में
झुनझुनवाला अक्सर अपने इंटरव्यू में कहते हैं कि कंपनी से ज्यादा उसके कारोबार पर फोकस करना चाहिए। कंपनी किस तरह के कारोबार में है और उस कारोबार में आगे चलकर कितना फायदा होने की उम्मीद है, एक निवेशक की हमेशा इस पर नजर होनी चाहिए। झुनझुनवाला को अपने निवेश में नुकसान भी उठाना पड़ा है। इसका बेहतर उदाहरण है मिड-डे मल्टीमीडिया। लेकिन इससे वे पीछे नहीं हटे। बाजार को ठीक से पढ़ें, इतिहास को जानें। बाजार में कई उतार-चढ़ाव आते हैं लेकिन लंबी अवधि में बाजार हमेशा ऊपर का रुख करता है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week