शादी का भी होने लगा है बीमा, टूटी तो क्लैम मिलता है | WEDDING INSURANCE

Thursday, June 8, 2017

शादी सात जन्मों का बंधन माना जाता है लेकिन आजकल इसके एक जनम तक चलने के चांस भी कम ही लगते है। कई बार शादियां तय होने के बाद और 7 फेरों से पहले ही टूट जातीं हैं। ऐसे में दोनों पक्षों की काफी धनहानि होती है लेकिन अब राहत की बात यह है कि इस तरह के नुक्सान से बचा जा सकता है। जीवन साथी भले ही बाद में मिले परंतु बीमा कंपनी क्लैम अदा करके आपको एक बड़ी राहत तो दे ही देती है। इसके अलावा यदि नवदंपत्ति के बीच 2 साल के भीतर तलाक हो जाता है तब भी आपको क्लैम मिलता है। चलिए आपको बताते हैं इस अनोखे बीमा के बारे में: 

क्या है शादी का बीमा
भारत में शादी जैसे बड़े समारोह में बहुत ज्यादा पैसा खर्च किया जाता है और मंहगी ज्वेलरी खरीद कर रिस्क भी लिया जाता है। अक्सर आप देखते हैं कि शादी के मौकों पर ऐसी कई घटनाएं हो जाती हैं जो वास्तविक रुप से नहीं होना चाहिए। ऐसी घटनाओं से आपके और आपके परिवार का आर्थिक रुप से काफी नुकसान हो जाता है। वेडिंग इंश्योरेंस यानी शादी का बीमा आपको इससे उबारने में मदद करता है।

क्यों है इसकी जरूरत
क्यों है आपको इसकी जरुरत जिंदगी का कोई भरोसा नहीं है, जीवन अनिश्चित है वेडिंग इंश्योरेंस आपको अनिश्चितताओं के खिलाफ कवर करता है। अगर कुछ भी होता है चाहे आपकी शादी ही रुक जाए आपका खर्च डबल हो जाता है। एक अच्छे शादी बीमा पॉलिसी से आप वो सब प्राप्घ्त कर सकते हैं जो आपने खो दिया है।

बीमा पॉलिसी लेने से पहले ध्यान रखें ये बातें
सबसे पहले आप पॉलिसी की अच्छे से जांच करें।
पॉलिसी में किस प्रकार का कवर आपको दिया जाएगा इसे जानें।
ये भी जानें कि कहीं आपके वेडिंग प्लानर या केटरर के पास तो कोई बीमा पॉलिसी नहीं है।
यह भी जाने कि आपको कवर कहां नहीं मिलेगा।
पॉलिसी को शादी होने के दो साल पहले लिया जाता है इस बात का ध्यान रखें।
अगर आपकी शादी एक साल पहले होने जा रही है तो आप रिसेप्शन और अन्य खर्चों का बीमा करा सकते हैं।

शादी के कैंसिल होने पर मिलेगा कवर
अगर आपकी शादी कैंसिल भी हो जाती है तो भी आपको इस बीमा का कवर मिलता है। इसके लिए जरूरी है कि आपकी शादी किसी प्राकृतिक कारण से कैंसिल हुई हो या शादी की डेट आगे बढ़ गई हो। इस कंडीशन में वेडिंग इंश्योरेंस इन सबका खर्च आपको देगा।

ये कंपनियां दिलवाती है शादी का बीमा
इंडिया में फिलहाल ऐसी कम ही कंपनियां है जो वेडिंग इंश्योरेंस उपलब्ध करवाती है लेकिन जितनी भी है हम आपको उनके बारे में बताएंगे। 
1. विवाह सुरक्षा के मामले में भविष्य जनरल की वेडिंग इंश्योरेंस पॉलिसी मुख्य तौर पर मानी जाती है। इसके अंतर्गत अगर किसी आकस्मिक बीमारी और बहुत बुरे मौसम की वजह से आप शादी कैंसिल करना चाहते हैं तो आपकी दोबारा शादी के लिए पूरा खर्च बीमा कंपनी की ओर से दिया जाएगा।

2. एचडीएफसी एर्गो कंपनी वेडिंग इंश्योरेंस उस वक्त प्रदान करती है जब आप की शादी किसी प्राकृतिक आपदा जैसे बाढ़ और सायक्लोन के वजह से कैंसिल हो जाती है तो नुकसान की भरपाई बीमा की इस कंपनी द्वारा किया जाता है। इसके अलावा, वर या वधु के एक्सीडेंट हो जाने और शादी के दौरान घर में चोरी हो जाने से भी एचडीएफसी एर्गो द्वारा कवर प्रदान किया जाता है।

3. आईसीआईसीआई लोम्बार्ड अचानक शादी कैंसिल हो जाने पर, एक्सीडेंट, प्रॉपर्टी का नुकसान और, कार्ड की प्रिंटिंग का खर्च, वेन्यू का खर्च, डेकोरेशन, फूड, संगीत, होटल और ट्रैवल बुकिंग पर बीमा कवर प्रदान करती है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं