UP के दलित पार्कों में प्रतिमाओं का आरक्षण समाप्त

Monday, June 5, 2017

नई दिल्ली। यूपी की पूर्व सीएम मायावती द्वारा बनाए गए दलित पार्क अब तक केवल दलित महापुरुषों की प्रतिमाओं के लिए आरक्षित थे परंतु अब यह आरक्षण समाप्त कर दिया गया है। अब इन पार्कों में देश के सभी महापुरुषों की प्रतिमाएं लगाई जाएंगी। वो ओ​बीसी और उच्च वर्ग से आने वाले भी होंगे। बीजेपी की योगी सरकार ने भीमराव अंबेडकर सामाजिक परिवर्तन स्थल के अंदर और बाहर दोनों जगहों पर राजा सुहेलदेव की मूर्तियां लगवाने का फैसला किया है।

लखनऊ में बसपा सरकार में बनाए गए अम्बेडकर पार्क में अब सुहेलदेव की भी मूर्तियां लगेंगी। योगी सरकार के मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने रविवार को अम्बेडकर पार्क के निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि यहां सुहेलदेव की भी मूर्ति लगाई जाए। उन्होंने कहा कि महापुरूषों को ध्यान में रखकर ये फैसला लिया गया है। यूपी के सभी पार्कों और स्मारकों में सुहेल देव की मूर्तियां लगाई जाएंगी। श्रावस्ती के राजा सुहेलदेव राजभर समुदाय से थे। राजभर समुदाय अब अन्य पिछड़ा वर्ग में शामिल है।

योगी आदित्यनाथ सरकार राजा सुहेलदेव की 16-18 फीट ऊंची कांस्य प्रतिमा अंबेडकर स्मारक स्थल के अंदर लगवाने का फैसला किया है। स्मारक के बाहर राजा सुहेलदेव की संगमरमर की प्रतिमा लगवाई जाएगी। अंबेडकर स्मारक के बाहर 13 प्लेटफॉर्म खाली पड़े हैं। राजा सुहेलदेव की मुर्ति इन्ही में से किसी एक प्लेटफॉर्म पर लगाई जाएंगी। सुहेल देव की स्मारक स्थल के अंदर कांस्य प्रतिमा लगवाने का प्लान है।

यूपी के पिछला वर्ग कल्याण मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि इन स्मारक स्थलों पर अब अहिल्याबाई होल्कर, सावित्रीबाई फुले, दक्ष प्रजापति, गुहराज निषाद महाराणा प्रताप और पृथ्वीराज चौहान की मूर्तियां भी लगाई जाएंगी। आपको बता दें कि पिछले महीने ही योगी आदित्यनाथ सरकार ने मायावती सरकार द्वारा बनवाए गए दलित स्मारक स्थलों के रखरखाव और मरम्मत के लिए 10 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week