पत्नि का रंग गोरा नहीं था, इसलिए जिंदा जला डाला | TIKAMGARH-DAMOH

Friday, June 30, 2017

भोपाल। ब्यूटीक्रीम बेचने वाली कंपनियों के लिए काम की खबर है। मध्यप्रदेश के दमोह जिले के पटेरिया गांव में पति और उसके परिवार वालों ने पत्नी को इसलिए जिंदा जला दिया क्योंकि उसका रंग गोरा नहीं था। गहरा सांवला रंग होने के कारण उसे रोज ताने मारे जाते थे। पूरी ससुराल ने उसे काबू किया और कैरोसिन डालकर आग लगा दी। वो जलती हुई घर से बाहर भागी और किसी तरह अपने मायके पहुंच गई। मामले में मानवाधिकार आयोग ने भी दखल दिया है। पुलिस प्रकरण की जांच कर रही है। अभी तक किसी की गिरफ्तार नहीं हुई है। 

मिली जानकारी के अनुसार, पीड़िता रिंकी राय की शादी टीकमगढ़ के देवरदा के रहने वाले सुरेंद्र राय के साथ लगभग डेढ़ साल पहले हुई थी। शादी के बाद से ही सुरेंद्र अपनी पत्नी रिंकी को काला रंग होने के कारण ताने कसता था। यही नहीं, सुरेंद्र के परिवार वालों ने रिंकी को सताने में कोई कसर नहीं छोड़ी। समय के साथ बात इतनी बढ़ गई कि सुरेंद्र ने अपनी मां, भाई और बहन के साथ मिलकर रिंकी को बांधकर उस पर केरोसिन का तेल डालकर आग लगा दी।

अधजली हालत में बचकर भागी
रिंकी ने अधजली अवस्था में चीखते-चिल्लाते हुए अपने ससुराल से भागकर जान बचाई और अपने मायके पटेरिया पहुंची। रिंकी को गंभीर अवस्था में दमोह जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मौके पर पहुंची मानव अधिकार आयोग की टीम...
जिला अस्पताल में भर्ती रिंकी से मिलने मानव अधिकार आयोग की सीमा जाट पहुंची। उन्होंने जल्द से जल्द प्रशासनिक कार्रवाई का आश्वासन दिया। वहीं, दमोह पुलिस अधीक्षक तिलक सिंह का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। घटनाक्रम दूसरे जिले का है। सभी पहलुओं पर गौर करने के बाद ही कार्रवाई की जाएगी।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week