रीवा के बदमाशों ने ड्रायवर की हत्या कर सीधी से चौथी SCORPIO SUV लूटी

Tuesday, June 20, 2017

रामबिहारी पांडे/सीधी। जिले मे वाहनों के बुकिग का व्यापार करने वालों के लिये लुटेरे खतरनाक साबित हो रहे है इसके बावजूद वाहन मालिक लुटेरों के कुचक्र मे फंसकर सबकुछ लुटा बैठते है। ऐसा ही मामला एक बार फिर सामने आया है जब दो युवक स्कार्पियों बाहन रीवा के लिये बुक कराने के बाद ले गये लुटेरों ने 45 किलोमीटर का सफर तय करने के बाद रीवा जिले की सीमा मे पहुंचते ही चालक की चाकुओं से गोदकर हत्या के बाद वाहन को लेकर रफू चक्कर हो गये है। रीवा सम्भाग की पुलिस खोजने मे जुटी है लेकिन कोई सुराग नही लग सका है।

घटना के सम्बंध मे मिली जानकारी के अनुसार सोमवार की दो युवको ने सम्राट चौक मे खड़े स्कार्पियों स्कार्पियो क्रमांक एमपी 53 टीए 1256 को रीवा जाने के लिये बुक कराया था। बाहन हरीष मिश्रा का बताया गया है। वाहन चालक पिंकू केवट के द्वारा मालिक को सूचना देने के बाद वाहन लेकर रीवा के लिए रवाना हो गया। जहां बुकिंग कराने वाले युवको के द्वारा गुढ़ पहाड़ में चालक को चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई। और वाहन लेकर आरोपी फरार हो गए। रास्ते से गुजर रहे अन्य वाहन चालकों के द्वारा सडक़ के किनारे शव को देखकर गुढ पुलिस को सूचना दी गई। 

पुलिस स्थल पर पहुंचकर शव बरामद कर परिजनो को सूचित किया गया। परिजनों की उपस्थिति में रीवा जिला चिकित्सालय मर्जुरी केंद्र मे शव का पोस्टमार्टम कराया गय शव परिजनों को मंगलवार को सौप दिया गया है। जिले में बुकिंग कर वाहन चोरी की चौथी घटना है दो घटनाओं मे चालक की हत्या हो चुकी है एक खुलासा हो चुका है लेकिन तीन घटनाओं की असलियत अभी भी पुलिस की फाइल मे दफन है। 

इसके पूर्व भी हो चुकी है घटनाए 
सम्राट चौराहे से वाहन स्कार्पियो क्रमांक एमपी 53 टीए 1066 वाहन मालिक राकेश बहादुर सिंह पिता रघुराज सिंह निवासी गाढ़ा का वाहन अज्ञात युवको के द्वारा बुकिंग की गई। किंतु आज दिनांक तक पुलिस न तो वाहन को डूढ पाई और नहीं चालक का सिना त हो पाया। यह घटना वर्ष 2013 में घटित हुई थी।

दूसरा मामला
शहर के सम्राट चौराहे से अज्ञात युवक के द्वारा देवतालाब जाने के लिए बुलेरो वाहन की बुकिंग की गई। वाहन मालिक शिवेंद्र सिंह पिता आरबी सिंह निवासी अमरवाह वाहन क्रमांक एमपी 53 टीए 0720 शहर से रवाना हुआ। सुहागी घाट मे चालक रोहणी की हत्या कर फेंक दिया गया। पुलिस के द्वारा जांच पड़ताल शुरू की गई तो आरोपियों की पतासाजी हो पाई और वाहन कानपुर शहर से बरामद की गई। जिसमें तीन आरोपी कमर्जी व इलाहाबाद के थे। यह घटना वर्ष 2014 की है।

तीसरी घटना
शहर के चौक से बुलेरो वाहन क्रमांक एमपी 53 टीए 1209 अज्ञात युवकों के द्वारा शहडोल जयसिंह नगर के लिए बुकिंग पर वाहन को ले गए। यह वाहन आशा सिंह पति अर्जुन सिंह निवासी कोठार कला की थी। चालक वाहन को लेकर शहडोल के लिए गया जयसिंहनगर में दवा सुंघाकर बेहोश कर दिया गया। जहां चालक को नीचे उतारकर वाहन लेकर फरार हो गए। चालक की फरियाद पर मामला पंजीवद्ध किया गया किंतु आज दिनांक तक वाहन की सिना त नहीं हो पाई। यह घटना वर्ष 2014 की है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week