अचानक लड़खड़ाकर गिरे राजनाथ सिंह, बाएं पैर की हड्डी टूटी

Sunday, June 18, 2017

नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह संडे सुबह एक हादसे का शिकार हो गए। उनके बाएं पैर की हड्डी टूट गई है। संडे को वो मॉर्निंग वॉक पर निकले थे, इसी दौरान वो फिसलकर गिर गए। गिरने की वजह से राजनाथ सिंह के बाएं पैर की हड्डी में फ्रैक्चर आया है। राजनाथ सिंह को इलाज के लिए एम्स ले जाया गया। जहां उन्हें प्लास्टर चढ़ाया गया है। जानकारी के मुताबिक इलाज के बाद राजनाथ सिंह डिस्चार्च होकर घर वापस आ गए हैं। पैर में चोट की वजह से योग दिवस पर उनका निर्धारित कार्यक्रम रद्द हो सकता है। डॉक्टर्स ने कुछ दिन राजनाथ सिंह को आराम करने की सलाह दी है।

दार्जीलिंग में शांति की अपील
अलग राज्य की मांग को लेकर दार्जीलिंग में हो रहे आंदोलन के बीच केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने प्रदर्शनकारियों से हिंसा नहीं करने और किसी भी मुद्दे के समाधान के लिए बातचीत करने की अपील की। राजनाथ सिंह ने वहां रहने वाले लोगों से कहा कि हिंसा से उन्हें कभी कोई समाधान खोजने में मदद नहीं मिलेगी और उन्हें शांति के साथ रहना चाहिए। उन्होंने कहा, सभी संबंधित पार्टियों और पक्षों को सौहार्दपूर्ण माहौल में बातचीत के जरिये अपने मतभेदों और गलतफहमियों को सुलझाना चाहिए। 

उन्होंने ट्वीट किया, 'मैं दार्जीलिंग और आसपास के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों से अपील करता हूं कि शांत रहें। किसी को हिंसा नहीं करनी चाहिए।' राजनाथ ने शनिवार को भी ममता से बात की थी और उनसे हरसंभव कदम उठाने को कहा था, ताकि इस पर्वतीय पर्यटन केंद्र में शांति बहाल हो सके, जहां लोग स्कूलों में बांग्ला को अनिवार्य भाषा के तौर पर लागू करने का विरोध कर रहे हैं। 

अर्द्धस्वायत्तशासी गोरखालैंड क्षेत्रीय प्रशासन (जीटीए) में शासन संभाल रहा गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) वहां अलग राज्य की मांग को लेकर आंदोलन चला रहा है। दार्जीलिंग रविवार को भी तनाव से घिरा रहा, जहां हजारों प्रदर्शनकारी जीजेएम के एक कार्यकर्ता के शव को लेकर चौकबाजार में जमा हुए और उन्होंने अलग गोरखालैंड राज्य की मांग को लेकर नारेबाजी की। गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच हुई झड़पों के बाद पश्चिम बंगाल के इस पर्वतीय जिले में बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है।

शहर के बीचोंबीच स्थित चौकबाजार में प्रदर्शनकारी काले झंडे और तिरंगा लेकर एकत्रित हुए. उन्होंने नारेबाजी की और दार्जीलिंग से तत्काल पुलसकर्मियों और सुरक्षा बलों को हटाने की मांग की।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week