डोसा टेबल पर नायडू को मन की बात बता आए अमित शाह

Tuesday, June 13, 2017

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मंगलवार (13 जून) को जब केंद्रीय मंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता वेंकैया नायडू के घर नाश्ता करने पहुंचे तो राजनीतिक गलियारों में इसे लेकर कानाफूसी का दौर शुरू हो गया। आखिर दो भाजपा नेताओं के एक साथ नाश्ता करने में क्या राजनीति हो सकती है? अमित शाह ने सोमवार (12 जून) को सर्वसम्मति से राष्ट्रपति उम्मीदवार चुनने की खातिर गैर-भाजपा दलों से बात करने के लिए तीन सदस्यों की एक कमेटी बनाई। देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली और सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू इस कमेटी के सदस्य हैं।

देश के मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी देश का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म हो रहा है। अगला राष्ट्रपति चुनने के लिए 17 जुलाई को चुनाव होंगे। 20 जुलाई को नतीजे आएंगे। राष्ट्रपति चुनाव के लिए न तो सत्ताधारी भाजपा गठबंधन ने अभी तक उम्मीदवार की घोषणा की है, न ही विपक्षी कांग्रेस गठबंधन ने। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार का नाम तय कर चुके हैं। 15 जून को होने वाली भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक के बाद इस नाम की घोषणा कर दी जाएगी। वहीं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जदयू, तृणमूल कांग्रेस, बसपा, सपा समेत तमाम दलों के नेताओं से मुलाकात कर चुकी हैं। माना जा रहा है कि 14 जून को कांग्रेस विपक्षी दलों के राष्ट्रपति उम्मीदवार का नाम घोषित कर सकती है।

जहां भाजपा की तरफ से झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, केंद्रीय मंत्री थावर चंद गहलौत, यूपी के राज्यपाल राम नाईक, दिल्ली मेट्रो के शीर्ष पुरुष ई श्रीधरन समेत कई लोगों को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने की अटकलें लगाई जा रही हैं। वहीं कांग्रेस की तरफ से महात्मा गांधी के परपोते गोपाल कृष्ण गांधी, मीरा कुमार, करन सिंह, शरद यादव, अमर्त्य सेन इत्यादि को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने का अनु्मान लगाया जा रहा है।

देश का अगला राष्ट्रपति कौन बनेगा ये तो वक्त बताएगा कि लेकिन मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि वेंकैया नायडू खुद भी देश का राष्ट्रपति या उप-राष्ट्रपति बनने की हसरत रखते हैं। लेकिन अमित शाह ने नायडू को राष्ट्रपति उम्मीदवार पर सर्वसम्मति बनाने वाली कमेटी का सदस्य बनाकर उनका नाम किनारे कर दिया। कहा जा रहा है कि पार्टी अध्यक्ष के इस फैसले से नायडू नाखुश थे और इसीलिए उनके मन का मलाल दूर करने अमित शाह सुबह उनके घर नाश्ता करने पहुंचे। शाह ने नायडू के घर पर नाश्ते में डोसा खाया।

नायडू को जिस तरह राष्ट्रपति उम्मीदवार पर आम सहमति बनाने वाली कमेटी का सदस्य बनाया गया है उससे लोगों को यूपी चुनाव के बाद का दृश्य याद आ गया। यूपी में दो-तिहाई बहुमत हासिल करने के बाद यूपी भाजपा के अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य सीएम पद के तगड़े दावेदार बताए जा रहे थे। लेकिन अमित शाह ने यह कर उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया था कि यूपी का अगला सीएम केशव प्रसाद मौर्य की पसंद का ही होगा। शाह की इस घोषणा के बाद ही मौर्य का स्वास्थ्य बिगड़ गया था और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week