मप्र: जेल में बंद माफिया ने महिला IAS को दी जान से मारने की धमकी

Sunday, June 18, 2017

भोपाल। मध्यप्रदेश में अब यूपी/बिहार जैसा माफिया राज दिखाई देने लगा है। नेता और अफसर माफिया के यहां से मिलने वाली सौगातों में खुश रहते हैं, जो माफिया के खिलाफ आवाज उठाने की कोशिश करते हैं वो या तो कार्रवाईयों का शिकार हो जाते हैं या फिर माफिया उनसे सीधे निपटने पर उतारू हो जाता है। हरदा में रेत माफिया के खिलाफ आवाज उठाने वाले कमल पटेल को संगठनात्मक कार्रवाई का डर दिखाकर चुप करा दिया गया। इधर छतरपुर जेल में बंद रेत माफिया अर्जुन सिंह बुंदेला ने 2013 बैच की आईएएस अफसर सोनिया मीणा को जान से मारने की धमकी भेजी है। यह धमकी उस समय दी गई जब सोनिया को अर्जुन के खिलाफ कोर्ट में साक्ष्य पेश करने हैं। 

सोनिया चार माह पहले उस वक्त चर्चा में आई थीं जब उन्होंने छतरपुर जिले में राजनगर की एसडीएम रहते हुए 8 फरवरी को अवैध खनन को लेकर बुंदेला पर कार्रवाई की थी। इस पर बुंदेला और समर्थकों ने सोनिया पर राइफल तानने के साथ ही गाली-गलौज की थी। वह रेत भरे ट्रैक्टर भी जबरन छुड़ा ले गया था। सोनिया ने मुख्य सचिव बीपी सिंह को जानकारी देते हुए बताया है कि बुंदेला की तरफ से लगातार जानलेवा हमने की धमकियां मिल रही हैं। ऐसे में छतरपुर में उनकी जान को खतरा हो सकता है। पत्र के बाद उमरिया कलेक्टर ने उन्हें अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराई है। शासन ने डीजीपी ऋषि शुक्ला से भी कहा है कि मामले की पड़ताल कराएं। सोनिया इन दिनों उमरिया में जिला पंचायत सीईओ हैं। 

कौन है ये लेडी आईएएस
राजस्थान में जन्मी सोनिया मीणा एमपी कैडर की आईएएस हैं। साल 2012 के सिविल सर्विसेस के एग्जामिनेशन में उन्होंने 36वीं रैंक हासिल की थी। छतरपुर में पोस्टिंग के बाद से ही इल्लीगल माइनिंग के खिलाफ कार्रवाई को लेकर चर्चा में रहीं।

क्या हुआ था 8 फरवरी को...
8 फरवरी को इलाके की खदानों की चेकिंग पर निकलीं राजनगर की SDM सोनिया शाम 4 बजे वो लौट रहीं थीं। इसी दौरान बमीठा थाने से कुछ दूरी पर उन्होंने रेत से भरा ट्रैक्टर जाते देख उसे रुकवाया और पूछताछ के बाद उसे थाने ले जाने को कहा। ट्रैक्टर पर एक होमगार्ड भगवंत सिंह को बिठा दिया था। जैसे ही होमगार्ड का जवान ट्रैक्टर पर बैठा, ड्राइवर अर्जुन सिंह बुंदेला ने फौरन SDM पर रायफल तान दी। उसने इस दौरान गलत शब्दों का इस्तेमाल करते हुए होमगार्ड भगवंत सिंह को उतार दिया और ट्रैक्टर लेकर चला गया। घटना के बाद SDM सोनिया थाने पहुंचीं। मामले की जानकारी मिलते ही TI एसपी सिंह सिसौदिया, SDOP इसरार अंसारी थाने पहुंचे थे। नगर सेवक ने कहा कि उनके पास हथियार नहीं थे, इसलिए वो कुछ नहीं कर सके। इसके बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। बाद में सोनिया ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज करने और उसका लाइसेंस रद्द करने का ऑर्डर दिया था।

माइनिंग माफियाओं के खिलाफ कहर बनकर टूटी
सोनिया मीणा ने राजनगर के नयागांव, लाखेरी, घूरा, खजवा सहित 13 खदानों पर छापामार कार्रवाई करते हुए 3 डंपर, 1 जेसीबी सहित 2 ट्रैक्टर पकड़े थे। न्यू साईं मिनिरल्स का ऑफिस सील करने की कार्रवाई कर चुकी हैं। वे अब तक राजनगर इलाके में अवैध माइनिंग माफियाओं के खिलाफ 1 करोड़ 70 लाख का किया जुर्माना कर चुकी हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week