जांच के पन्नों में उलझे IAS पन्नालाल, 2 घंटे में गई कलेक्टरी

Thursday, June 22, 2017

भोपाल। आईएएस पन्नालाल सोलंकी भी अब एक ग्रंथ बनते जा रहे हैं। उनसे जुड़े विवादों की संख्या लगातार बढ़ रही है। बुधवार को जारी हुई आईएएस अफसरों की ट्रांसफर लिस्ट में पन्नालाल सोलंकी को पन्ना जिले का कलेक्टर बनाया गया था। यह खुशी महज 2 घंटे ही टिक पाई और नया आदेश जारी हो गया। जिसमें लिखा था कि पुराना आदेश निरस्त किया जाता है। परेड की कमांड आई 'जैसे थे' बोले तो आइरिन सिंथिया वापस पन्ना कलेक्टर और पन्नालाल सोलंकी वापस अपर सचिव मप्र शासन। 

क्यों हुआ आदेश निरस्त
कहा जा रहा है कि पन्नालाल सोलंकी ने बड़े ही जतन से पन्ना की कलेक्टरी हासिल की थी लेकिन जैसे ही लिस्ट जारी हुई, हाईलेवल पॉलिटिक्स शुरू हो गई। पन्नालाल सोलंकी को कुपोषण के मामले में श्योपुर कलेक्टर को पद से दीपावली के समय हटाया गया था। इसे अभी एक साल पूरा नहीं हुआ है और नई लिस्ट में सोलंकी का नाम आ गया। अत: आनन फानन नया आदेश जारी किया गया। 

2 करोड़ के घोटाले का भी है आरोप
श्योपुर के तत्कालीन कलेक्टर पन्नालाल सोलंकी पर 2 करोड़ के घोटाले का आरोप लगा है। यह घोटाला 35 समितियों के माध्यम से किया गया एक सुनियोजित घोटाला था परंतु जल्दबाजी के कारण पकड़ा गया। कलेक्टर ने ऐसी 35 समितियों के बैंक खाते खुलवाकर उन्हें शासकीय योजनाओं का पैसा दे दिया जो रजिस्टर्ड ही नहीं थीं। पहले खाते खुले, पैसे ट्रांसफर हुए फिर रजिस्ट्रेशन कराया गया। इन समितियों के माध्यम से कई हेर-फेर किए गए। आरोप है कि सबकुछ कलेक्टर के निर्देश पर किया गया। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week