GST के विरोध में मध्यप्रदेश के बाजार बंद

Friday, June 30, 2017

इंदौर। जीएसटी के प्रावधानों और जटिलता के खिलाफ शुक्रवार को शहर और प्रदेश के बाजार बंद रहेंगे। अहिल्या चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की अगुवाई में हो रहे बंद को इंदौर के साथ प्रदेश के तमाम शहरों के ज्यादातर व्यापारी संगठनों के साथ ही कांग्रेस ने भी समर्थन देने का ऐलान किया है। बंद के दौरान सभी प्रमुख बाजारों के साथ दवा की दुकानें, पेट्रोल पंप, खाने-पीने की दुकानें और दाल मिलें भी बंद रहेंगी।

छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज ने भी प्रदेश बंद का ऐलान किया है। अहिल्या चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष रमेश खंडेलवाल ने बयान जारी कर कहा है कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि टैक्स की ऐसी विसंगतिपूर्ण और जटिल प्रणाली जिसे लागू करने वाले अधिकारी भी ठीक से नहीं समझ पाए हैं, को कारोबारियों पर थोपा जा रहा है। जीएसटी के साथ ही वर्षों बाद देश में इंस्पेक्टर राज की वापसी की आशंका प्रबल हो गई है। जीएसटी अधिकारियों को मनमाने अधिकार देने के साथ ही भ्रष्टाचार को बढ़ावा देगा। इससे व्यापार करना दूभर हो जाएगा। व्यापारियों के लिए एक जुलाई से ही गुलामी का दौर शुरू हो रहा है।

इन पर असर
सोना-चांदी जवाहरात व्यापारी एसोसिएशन, क्लॉथ मार्केट मर्चेंट एसोसिएशन, दवा व्यापारी एसोसिएशन, पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन, बर्तन निर्माता-विक्रेता संघ, मप्र फुटकर व्यापारी संघ, लोहा व्यापारी एसोसिएशन इंदौर, टाइल्स-सेनेटरी व्यापारी एसोसिएशन, पूर्वी क्षेत्र बिल्िडग मटेरियल व्यापारी एसोसिएशन, अनाज व्यापारी एसोसिएशन, मारोठिया, रेडिमेड वस्त्र व्यापारी संगठन, हार्डवेयर व्यापारी एसोसिएशन, ऑटो पार्ट्स डीलर्स और अलग-अलग क्षेत्रों के साथ ही मिठाई-नमकीन निर्माता-विक्रेता संघ समेत अन्य संगठनों ने बंद में शामिल होने की घोषणा की है।

रक्तदान और भूख हड़ताल
मिठाई-नमकीन कारोबारियों ने बंद के दौरान राजवाड़ा पर इकट्ठे होकर रक्तदान का ऐलान किया है। क्लॉथ मार्केट के व्यापारी काली पट्टी बांधकर विरोध जताएंगे। 2 जुलाई से व्यापारी क्रमिक भूख हड़ताल शुरू कर गांधी प्रतिमा पर धरना देंगे।

रैली नहीं निकालने पर नाराजगी
व्यापारियों का एक धड़ा जीएसटी के ठीक पहले सिर्फ एक दिन के बंद से खुश नहीं है। अहिल्या चेंबर ने आधी रात को प्रदर्शन और रैली का ऐलान वापस ले लिया है। इस पर कई व्यापारी नाखुश हैं। व्यापारियों का एक धड़ा अब भी रैली और अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की पैरवी कर रहा है। इस बीच चेंबर के पदाधिकारियों ने कहा है कि अगले सप्ताह बैठक कर आंदोलन के अगले दौर की रणनीति तय की जाएगी।

ऑटो बंद, स्कूल खुले
बाजार बंद के चलते ऑटो चालकों ने भी गुरुवार को अपनी सेवा बंद रखने का ऐलान कर दिया है। इसके चलते स्कूली बच्चों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। हालांकि स्कूल बसें संचालित होंगी और स्कूल भी खुले रहेंगे। बिजली कंपनी और नगर निगम ने सूचना जारी कर कहा है कि उनके कैश काउंटर खुले रहेंगे।

ग्वालियर में रैली निकाली 
ग्वालियर। 30 जून शुक्रवार को ग्वालियर सहित सम्पूर्ण मध्यप्रदेश के बंद को सफल बनाने के लिये वाहन रैली निकाली गई, रैली चेम्बर भवन से प्रराम्भ होकर इंदरगंज, दाल बाजार, नया बाजार, ऊठपल, दौलतगंज, महाराज बाड़ा, जनकगंज, हुनमान चौराहा, नई सड़क, गुस्त का ताज़िया फूलबाग़ , हजीरा, पड़ाव रेलवे स्टेशन, थाटीपुर, बारादरी चौराहा से वापस थाटीपुर होते हुए चेम्बर भवन पर आकर समाप्त हुई।

रैली में शामिल व्यापारी जीएसटी में व्याप्त जटिलता और कमियों को लेकर काफी आक्रोश स्पष्ठ दिखाई दे रहा था, जी एस टी के विरोध में नारे लगा रहे थे। वाहन रैली में शामिल चेम्बर और कॉमर्स के अध्यक्ष अरविन्द अग्रवाल, संयुक्त अध्यक्ष यश गोयल ,उपाध्यक्ष सुरेश बंशल, मानसेवी सचिव डॉ प्रवीण अग्रवाल, मानसेवी संयुक्त सचिव जगदीश मित्तल,कोषाद्यक्ष गोकुल बंशल रैली का नेतृत्व कर रहे थे। 

पदाधिकारियो ने ग्वालियर चेम्बर के समस्त सदस्यगण सहित शहर के सभी व्यवसायिक एवंम औधोगिक संगठनों के प्रतिनिधियों एवं शहर के सभी व्यवसासियों से जीएसटी में व्याप्त जटिलताओं और कमियों के विरोध में 30 जून को ग्वालियर  बन्द पूर्णरूप से सफल बनाने के लिए विनम्र भाव से अपील की है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week