EASY DAY: जागरुक उपभोक्ता ने सबक सिखाया, 50 हजार का जुर्माना

Thursday, June 22, 2017

नई दिल्ली। देश भर में खुले EASY DAY STORES के बारे में क्या कोई कह सकता है कि एमआरपी से ज्यादा पर सामान बेचा जा रहा है। इस तरह की स्टोर्स पर सामान खरीदने के बाद ज्यादातर लोग बिल में सिर्फ टोटल अमाउंट देखते है। सामान की एमआरपी से बिल को टेली ही नहीं करते परंतु गाजियाबाद में एक जागरुक उपभोक्ता ने इस तरफ ध्यान दिया और ना केवल गलती पकड़ी बल्कि सबक भी सिखाया। उपभोक्ता फोरम ने EASY DAY STORES पर 50 हजार रुपए का जुर्माना ठोका है। वाद व्यय के लिए 5000 रुपए अदा करने होंगे। बता दें कि इजी डे स्टोर्स future group की ओर से संचालित की जातीं हैं। पिछले साल इसके Bharti Retail की Big Bazaar के साथ एकीकरण की खबरें आईं थीं। 

यह है मामला
गौर होम्स गोविंदपुरम बी 1211 निवासी शंशाक मिश्रा ने बताया कि 31 जनवरी, 2015 को उसने गौर होम्स स्थित ईजी-डे से 115 रुपए का लिस्ट्रन माऊथ वॉश अपने क्रैडिट कार्ड से खरीदा था। माऊथ वॉश पर एमआरपी (मैक्सिम रिटेल प्राइस) 110 रुपए अंकित था। ईजी-डे ने इसके लिए 5 रुपए अतिरिक्त चार्ज किए। शाम को घर पहुंचने पर उन्होंने देखा तो शिफ्ट मैनेजर को सूचित किया। स्टोर की लापरवाही को दोबारा से चैक करने के लिए उन्होंने 3 फरवरी, 2015 को वहीं से एक अन्य लिस्ट्रिन माऊथ वॉश खरीदा। इस बार फिर से शंशाक से 115 रुपए चार्ज किए गए। नोटिस दिए जाने के बावजूद भी ईजी-डे ने कोई जवाब नहीं दिया। इसके बाद उपभोक्ता फोरम में इसकी शिकायत की गई। पीड़ित ने कोर्ट में लिस्ट्रन की बोतल और रसीद को दाखिल किया। 2 साल तक मामले की सुनवाई चली।

क्या कहना है फोरम का
उपभोक्ता फोरम अध्यक्ष महेन्द्र पाल सिंह की अध्यक्ष वाली बैंच ने साफ तौर पर आदेश दिए हैं कि अगर जुर्माने की रकम तय समय पर नहीं दी जाती है तो दोनों पक्षों को 10 प्रतिशत ब्याज के हिसाब से रकम देनी पड़ेगी। उपभोक्ता फोरम ने जिलाधिकारी को जांच कर आवश्यक कार्रवाई किए जाने के आदेश दिए हैं। फोरम ने कहा कि ईजी-डे ने एमआरपी से ज्यादा पैसे वसूले हैं। इसलिए उपभोक्ता को 55,000 रुपए जुर्माना दें। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week