सड़क हादसे में मासूम की मौत, पब्लिक ने तहसीलदार व थाना प्रभारी को पीटा

Friday, June 16, 2017

रमज़ान खान/दमोह। जिले के जबेरा में मासूम की दर्दनाक मौत के बाद जनाक्रोश इतना भड़का की जबेरा मैन सड़क व हाइवे जाम कर लोगों ने एसडीएम को खदेड़ दिया, वहीं तहसीलदार व जबेरा थाना प्रभारी के साथ मारपीट की गई है। इस दौरान वीडियो बना रहे कुछ मीडिया कर्मियों को भी पब्लिक ने निशाना बनाया।दरअसल यहां की जनता इसलिए भड़क गई क्योंकि पिछले दिनों यहां अतिक्रमण हटाने की मांग के लिए आंदोलन किया गया, लेकिन तहसीलदार व थाना प्रभारी ने इस अतिक्रमण विरोधी मुहिम को रुकवा दिया था। जिससे यहां के लोग तहसीलदार व थाना प्रभारी से पहले से ही भड़के हुए थे। जैसे ही जनता ने मारपीट की तो तहसीलदार व थाना प्रभारी एक घर में घुस गए और उसके पिछले दरवाजे से बाहर निकल गए। घटना की सूचना मिलते ही भारी पुलिसबल जबेरा के लिए रवाना किया है।

जबेरा बस स्टैंड पर संकीर्ण रास्ता होने से आए दिन सड़क हादसे हो रहे हैं जिनमें मासूमों की जान जा रही है। शुक्रवार को दोपहर 12.30 बजे एक 9 साल के मासूम को मिनी ट्रक ने रौंद दिया। मासूम की दर्दनाक मौत सामने होते देख लोग भड़क उठे और ट्रक चालक को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया गया। इसके बाद आक्रोशित लोगों ने चकाजाम लगा दिया। एसडीएम तहसीलदार को आता देख उन पर हमला कर दिया।

पुलिस के अनुसार 9 वर्षीय बालक अमन कुचबंदिया सड़क पार कर रहा था, इसी समय तेज रफ्तार से जाते हुए मिनी ट्रक ने अपनी चपेट में लिया, पलक झपकते ही मासूम के शरीर के चिथड़े-चिथड़े उड़ गए। इसके बाद आक्रोशित लोगों ने चकाजाम लगा दिया इसके बाद बायपास पर हाइवे भी जाम कर दिया गया है। 

बताया जाता है कि बालक अपनी मां शकुन कुचबंदिया के साथ आया था। उसके पिता की भी पहले मौत हो गई है। मां की सदमे जैसी स्थिति होने से बालक कहां का रहने वाला है इसकी जानकारी नहीं लग पाई है। इस दौरान तनाव की स्थिति बन गई है, क्योंकि लोग इस घटना का मुख्य कारण अतिक्रमण मान रहे हैं और प्रशासन वहां का अतिक्रमण हटाने में रुचि नहीं दिखा रहा है। जिससे लोगों की भीड़ बढ़ती जा रही है। एसडीएम, एसडीओपी सहित भारी पुलिसबल जबेरा के लिए रवाना कर दिया गया है। जैसे ही एसडीएम व तहसीलदार मौके पर पहुंचे तो भीड़ उन पर हमला करने दौड़ पड़ी।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week