CT17: भारत में मांगी जा रहीं हैं पाकिस्तान के लिए दुआएं

Tuesday, June 13, 2017

नई दिल्ली। चैंपियंस ट्रॉफी के लिए भारत और पाकिस्तान दोनों ही सेमीफाइनल में आ गए हैं। इधर भारत का मुकाबला बांग्लादेश से होगा तो उधर पाकिस्तान इंग्लेंड से भिड़ेगा। क्रिकेट के विशेषज्ञों का कहना है कि भारत के सामने बांग्लादेश कमजोर टीम नहीं है, वहीं पाकिस्तान का इंग्लेंड से जीतना काफी मुश्किल है लेकिन दोनों देशों के लोग चाहते हैं कि फाइनल का मुकाबदला भारत और पाकिस्तान के बीच हो। इसलिए इन दोनों मैचों में भारत और पाकिस्तान के नागरिक एक साथ दोनों टीमों के लिए दुआएं मांग रहे हैं। इधर भारत के क्रिकेट प्रेमी चाहते हैं कि पाकिस्तान इंग्लेंड से जीत जाए तो उधर पाकिस्तान के लोग दुआ कर रहे हैं कि भारत भी सेमीफाइनल जीतकर फाइनल में आ जाए। इधर भारत के लोग एक बार फिर पाकिस्तान को करारी हार का सामना करते देखना चाहते हैं तो उधर पाकिस्तान के लोग पुरानी हार का बदला लेने आतुर हैं। 

इंग्लैंड में चल रहे चैंपियंस ट्रॉफी में भारत और पाकिस्तान बर्मिंघम के मैदान पर एक-दूसरे से भिड़ चुके हैं। इस मुकाबले में भारत ने पाकिस्तान को आसानी से मात दे दी लेकिन अब एक और मौका बनता दिख रहा है जब ये दोनों टीमें क्रिकेट प्रेमियों को खेल के चरण सीमा तक पहुंचा सकते हैं। दरअसल चैंपियंस ट्रॉफी के पहले सेमीफाइनल में पाकिस्तान का मुकाबला इंग्लैंड से होना है जबकि दूसरे सेमीफाइल में भारत का मुकाबला बांग्लादेश से होगा।  

ऐसा हुआ तो फिर होगी टक्कर 
सेमीफाइनल में बुधवार 14 जून को पाकिस्तान का मुकाबला मेजबान इंग्लैंड से है। भारतीय समयानुसार दोपहर 3 बजे से शुरू होने वाले इस मुकाबले में अगर पाकिस्तान ने इंग्लैंड जैसी मजबूत टीम को हरा दिया तो कमजोर मानी जा रही यह टीम फाइनल में होगी। हालांकि पाकिस्तान ने चैंपियंस ट्रॉफी में अब तक जिस तरह का खेल दिखाया है, उसे देखते हुए इस टीम के फाइनल में पहुंचने की उम्मीद कम ही है। पाकिस्तान ने श्रीलंका के खिलाफ जो पिछला मैच जीता, उसमें भी उनका खेल बेहतर नहीं दिखा। उस मैच में श्रीलंका ने कई आसान कैच और रनआउट के मौके गंवाए। यही नहीं श्रीलंकाई टीम ने जमकर अतिरिक्त रन भी लुटाए, जबकि उसने पाकिस्तान के सामने छोटा ही लक्ष्य रखा था। फिर भी पाकिस्तान को लक्ष्य तक पहुंचने में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

इनको कमजोर आंकना भारत को पड़ सकता है महंगा 
गुरुवार 15 जून को टीम इंडिया की भिडंत बांग्लादेश से होगी। बांग्लादेश की टीम भारत के मुकाबले अपेक्षाकृत कमजोर नजर आती है, लेकिन इस टीम को कमजोर समझने की गलती भारी भी पड़ सकती है। इसी चैंपियंस ट्रॉफी में यह टीम न्यूजीलैंड जैसी मजबूत टीम को हराकर बाहर का रास्ता दिखा चुकी है। 2007 के विश्वकप में इसी बांग्लादेश की टीम ने ग्रुप स्टेज में टीम इंडिया को हराकर स्वदेश लौटा दिया था। बाद में क्वार्टर फाइनल में दक्षिण अफ्रीका को भी बांग्लादेश ने ही मात दी थी। यही नहीं 2011 व 2015 के विश्वकप में भी यह टीम इंग्लैड को पटखनी दे चुकी है। 

जाहिर है मशरफे मुर्तजा की इस टीम के पास खोने के लिए कुछ नहीं है और यह वनडे क्रिकेट इतिहास की सबसे खतरनाक टीमों में शामिल है। विराट कोहली और उनकी टीम बांग्लादेश को हल्के में लेने की गलती नहीं कर सकती, खासकर तब जब उनके बल्लेबाज फॉर्म में नजर आ रहे हैं और गेंदबाजी भी लय में दिख रही है। फिर भी भारतीय प्रशंसक उम्मीद करेंगे कि 'विराट सेना' बांग्लादेश को धूल चटाकर फाइनल में प्रवेश करेगी।

अगर ऐसा हुआ तो,...
टूर्नामेंट में अब तक इंग्लैंड को सबसे मजबूत टीम माना जा रहा है। लेकिन अगर 14 जून को कोई चमत्कार हो जाए और पाकिस्तान इंग्लैंड को हरा दे तो वो फाइनल में पहुंच जाएंगी। फिर अगले मुकाबले में भारत बांग्लादेश देश को हरा दे तो फिर 18 जून को लंदन के किंग्स्टन ओवल में फाइनल में महामुकाबला देखने को मिल सकता है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं