CBSE EXAM 2018 एक महीना पहले होंगे

Wednesday, June 21, 2017

नई दिल्ली। सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा अगले साल से मार्च की जगह फरवरी में आयोजित होगी। फिलहाल परीक्षा की पूरी प्रक्रिया 45 दिनों तक चलती है उसे भी घटाकर 1 महीने में खत्म करने का विचार किया जा रहा है। इस साल सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएं 1 मार्च से शुरू होकर 20 अप्रैल को खत्म हुई। बोर्ड का ये कदम उठाने के पीछे मूल्यांकन प्रक्रिया में होने वाली गलतियों को सुधारना है।

सीबीएसई के 12वीं क्लास के रिजल्ट घोषित करने के बाद से ही पेपर चेक करने में हुई गड़बड़ियों को लेकर छात्रों की शिकायते आ रही थीं। छात्रों की इन शिकायतों को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई ने मूल्यांकन प्रक्रिया में खामियों के अध्ययन के लिए दो समितियां बनाई हैं। सीबीएसई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, बोर्ड ने दो समितियां गठित करने का फैसला किया है। जिसमें वरिष्ठ अधिकारी होंगे और वे पालन की जा रही मूल्यांकन प्रक्रियाओं से जुड़ी समस्याओं पर विचार करेंगे।

एक अंग्रेजी अखबार के अनुसार सीबीएसई के चेयरमैन आर के चतुर्वेदी ने कहा कि परीक्षा एक महीने पहले कराने से नतीजों भी पहले आएंगे। आमतौर पर सीबीएसई के बोर्ड परीक्षा के नतीजे मई महीने के तीसरे या चौथे सप्ताह में आते हैं। चतुर्वेदी ने कहा, 'परीक्षा को 15 फरवरी के आसपास करा लिया जाएगा और हम यह भी कोशिश कर रहे हैं कि परीक्षा की पूरी प्रक्रिया एक महीने के अंदर खत्म हो जाए।' बोर्ड का ऐसा मानना है कि परीक्षा के नतीजे जल्दी घोषित करने से भी CBSE के बच्चों को अंडरग्रैजुएट ऐडमिशन प्रोसेस में मदद मिलेगी।

आपको बता दें कि देशभर के विश्वविद्यालयों में दाखिले की प्रक्रिया चल रही है। हजारों ऐसे छात्र हैं जो एडमिशन प्रोसेस के बीच सीबीएसई से वेरिफिकेशन ऑफ मार्क्स करवा रहे हैं। अंको के वेरिफिकेशन के लिए सिर्फ 2.47 फीसदी छात्रों ने आवेदन किया है। इस साल 12वीं की परीक्षा में कुल 10,98,891 छात्र शामिल हुए थे।फिलहाल देश के लगभग 18,000 स्कूलों की माध्यमिक शिक्षा का कमान सीबीएसई बोर्ड संभाल रहा है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week