लंदन में इंडिया-पाकिस्तान मैच का आनंद उठा रहा था भगोड़ा विजय माल्या

Monday, June 5, 2017

ब्रिटेन। यहां एजबेस्टन में इंडिया-पाकिस्तान मैच के दौरान कारोबारी विजय माल्या स्टेडियम में नजर आए। न्यूज एजेंसी एएनआई ने विजय माल्या की एक तस्वीर जारी की है, जिसमें वो स्टैंड्स में बैठे दिखे। महाराष्ट्र के एक एनसीपी एमएलए जितेंद्र अव्हाड़ ने भी माल्या की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की। उन्होंने कहा, "अगर कोई माल्या को ढूंढ रहा है तो वो एजबेस्टन में इंडिया-पाक के मैच में दिखे।" बता दें कि माल्या भारत में बैंकों के 9 हजार करोड़ रुपए के कर्जदार हैं और 15 महीने पहले भारत छोड़कर ब्रिटेन चले गए थे। भारत ने इस साल 8 फरवरी को ब्रिटेन से उसके एक्स्ट्राडीशन (प्रत्यर्पण) की रिक्वेस्ट की थी। यह अपील मार्च में मजिस्ट्रेट कोर्ट को भेज दी गई थी।

19 अप्रैल को विजय माल्या को ब्रिटेन में स्कॉटलैंड यार्ड ने अरेस्ट कर लिया था। लेकिन गिरफ्तारी के तीन घंटे बाद ही माल्या को 4.5 करोड़ रुपए के बॉन्ड और पासपोर्ट जमा करने की शर्त पर वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने जमानत दे दी। तब इंडियन फॉरेन मिनिस्ट्री ने एक बयान में कहा था- माल्या को लेकर ब्रिटेन में लीगल प्रोसेस जारी है। दोनों देशों की सरकारें भी इस मसले पर संपर्क में हैं। माल्या के प्रत्यर्पण के लिए भारत सरकार ने अपील की थी। इसलिए उसे गिरफ्तार किया गया।

बता दें कि माल्या पर 17 बैंकों के 9,432 करोड़ रुपए बकाया हैं। गिरफ्तारी से बचने के लिए वे पिछले साल 2 मार्च को देश छोड़कर भाग गए थे। भारत ने इस साल 8 फरवरी को ब्रिटेन से उसके एक्स्ट्राडीशन (प्रत्यर्पण) की रिक्वेस्ट की थी। यह अपील मार्च में मजिस्ट्रेट कोर्ट को भेज दी गई थी।

गिरफ्तारी के बाद बातचीत में माल्या ने कहा था कि वो बैंकों के साथ 9 हजार करोड़ रुपए के लोन का सैटलमेंट करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने एक बार में सैटलमेंट करने के लिए 6868 करोड़ रुपए देने की बात कही थी। माल्या ने ये जवाब उस सवाल पर दिया, जिसमें पूछा गया था कि जांच एजेंसियों को कोऑपरेट करने और बैंकों के पैसे लौटाने के लिए आपकी क्या शर्तें हैं? माल्या ने कहा था, "सबको मेरी तरफ से बैंकों को दिए सैटलमेंट ऑफर से जुड़ी शर्त और कर्नाटक हाईकोर्ट की कानूनी कार्यवाही ऑब्जर्व करने की जरूरत है।

कब से देश से बाहर हैं माल्या?
2 मार्च 2016 से ही माल्या लंदन में रह रहे हैं। इन्फोर्समेंट डायरेक्ट्रेट (ईडी) और सीबीआई को माल्या की तलाश थी। प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) से जुड़े एक मामले में मुंबई की स्पेशल कोर्ट माल्या को भगोड़ा घोषित कर चुकी थी। माल्या का पासपोर्ट भी रद्द किया गया था। माल्या को गिरफ्तार करने के लिए ईडी ने कोर्ट में अर्जी लगाई थी।

माल्या पर कितना कर्ज?
31 जनवरी 2014 तक किंगफिशर एयरलाइंस पर बैंकों का 6,963 करोड़ रुपए बकाया था। इस कर्ज पर इंटरेस्ट के बाद माल्या की टोटल लायबिलिटी 9,000 करोड़ रुपए से ज्यादा हो चुकी है। सीबीआई ने 1000 से भी ज्‍यादा पेज की चार्जशीट में कहा कि किंगफिशर एयरलाइंस ने IDBI की तरफ से मिले 900 करोड़ रुपए के लोन में से 254 करोड़ रुपए का निजी इस्‍तेमाल किया। किंगफिशर एयरलाइंस अक्टूबर 2012 में बंद हो गई थी। दिसंबर 2014 में इसका फ्लाइंग परमिट भी कैंसल कर दिया गया। डेट रिकवरी ट्रिब्‍यूनल ने माल्या और उनकी कंपनियों UBHL, किंगफिशर फिनवेस्ट और किंगफिशर एयरलाइन्स से 11.5% प्रति साल की ब्याज दर से वसूली की प्रॉसेस शुरू करने की इजाजत दी थी।

ED का क्या है आरोप?
ED का आरोप है कि माल्या ने क्रिमिनल कॉन्सपेरेसी के जरिए एसेट्स जुटाईं। एजेंसी के मुताबिक, माल्या ने किंगफिशर एयरलाइंस और यूनाइटेड ब्रेवरीज होल्डिंग्स के साथ मिलकर काॅन्सपेरेसी की और बैंकों की मिलीभगत के जरिए लोन हासिल किए। इस अमाउंट में से 4,930.34 करोड़ रुपए का अब तक पेमेंट नहीं किया गया है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं