नंदकुमार सिंह खिसियाए लेकिन पटेल को सस्पेंड तक नहीं कर पाए | BJP NEWS

Friday, June 2, 2017

भोपाल। शिवराज सिंह की शान में भाजपा के कई दिग्गजों को कुर्बान कर चुके प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान इस बार मन मसौस कर रह गए। उन्होंने हर संभव कोशिश की परंतु नर्मदा नदी में अवैध रेत खनन का मामला उठाने वाले हरदा के दिग्गज नेता कमल पटेल को निष्कासित तो क्या, सस्पेंड तक नहीं कर पाए। सूत्र बताते हैं कि जैसे ही नंदकुमार सिंह ने कमल पटेल को नोटिस जारी किया, हाईकमान की तरफ से इस मामले में कोई कार्रवाई ना करने का इशारा आ गया। यही कारण रहा कि नंदकुमार सिंह ने मीडिया के सामने अपनी खिसियाहट निकाली और कमल पटेल को जलील करने की कोशिश की। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक नंदकुमार ने कमल पटेल से कहा कि रेत खनन का मामला जिस ढंग से एक्सपोज किया गया, वह सही नहीं था। इससे दिल्ली में गलत संदेश गया है।

पटेल के साथ कमरे से बाहर निकले नंदकुमार सिंह चौहान ने मीडिया से कहा कि उनमें इतनी ताकत नहीं है कि अवैध खनन बंद करा दें। यह शिवराज सरकार का फैसला है। कमल पटेल पार्टी ऑफिस में करीब चार घंटे रहे। इस दौरान सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री लाल सिंह आर्य और पीडब्ल्यूडी मंत्री रामपाल सिंह भी पार्टी कार्यालय में पहुंचे। कमल पटेल ने प्रदेश अध्यक्ष से दो दौर में बातचीत हुई। हालांकि इस बातचीत के बाद कमल पटेल ने भी नर्मदा खनन मामले में यूटर्न ले लिया। 

कभी नहीं कहा कि मैंने खनन बंद कराया: पटेल
नंदकुमार के बयान के बाद कमल पटेल ने सफाई देते हुए कहा कि मैंने कभी यह नहीं कहा कि मैंने रेत खनन बंद कराया। यह फैसला मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का है। मैं अब भी यह कहता हूं कि मैंने ही यह मामला उनके सामने लाया था। पार्टी मेरी मां है और मैं पार्टी के खिलाफ कभी नहीं जा सकता। प्रदेश अध्यक्ष की नाराजगी की कोई बात नहीं है, उन्होंने हरदा जिले में पार्टी के काम करने के निर्देश दिए हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं