राहु की कृपा से भारत के राष्ट्रपति बन रहे हैं रामनाथ कोविंद: ASTRO

Tuesday, June 20, 2017

र से राहु तथा र से राजनीति दोनो की राशि एक है और दोनो के मध्य गहरा सम्बन्ध भी है। पुराने ज्योतिषी कहा करते है की यदि आपके जन्मान्क मे राहु शक्तिशाली है तो यह शक्ति आपको राजनीती द्वारा सत्ता के शिखर मे पहुंचा सकती है। राहु महाराज को आप यदि मास्टर माईंड या ईश्वरीय शक्ति कहे जिसके हिसाब से दुनिया चलती है तो कोई अतिशयोक्ति नही होगी। बुध ग्रह की राशि कन्या मे स्वराशि तथा मिथुन राशि मे उच्च प्रभाव देने वाले राहु महाराज का सारा काम दिमाग, किसी कार्य की गोपनीय रूपरेखा, रहस्य षडयंत्र तथा समस्त संचार तन्त्र पर राहु महाराज का ही प्रभाव रहता है। नाग, मदिरा तथा बिष पर राहु महराज का ही प्रभाव रहता है।

रामनाथ कोविंद
एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार रामनाथ का कोविँद का जन्म 1 अक्टूबर 1945 को कानपुर देहात मे कर्क राशि तथा कन्या सूर्य लग्न मे हुआ। कन्या राशि मे सूर्य बुध तथा गुरु एक साथ स्थित है। शनि चंद्र का बिष योग कर्क राशि मे एक साथ बैठकर समाज से जोड़कर रखते है लेकिन जब वे चयन के लिये जनता के पास जाते है तो वहा उन्हे असफलता हाथ लगती है। सूर्य बुध के शक्तिशाली योग ने उन्हे राज्य से जोड़कर रखा तथा राज्यसभा, राज्यपाल तथा वर्तमान मे राष्ट्रपति पद के लिये सत्तारूढ़ दल के उम्मीदवार है।

सूर्य से दशम स्थान मे मिथुन राशि के मंगल राहु का अंगारक योग उन्हे प्रबल राज़योग प्रदान कर रहा है।वर्तमान मे ये उच्च राहु की दशा मे है राहु की दशा अभी शुरुआत मे है। नरेंद्र मोदी और रामनाथ कोविंद के जन्मान्क मे सूर्य बुध का बुधादित्य योग उन्हे मोदी के करीब ला रहा है। इनकी पत्रिका मे जन्म का कन्या राशि का गुरु वर्तमान मे भी आकाशमंडल मे कन्या राशि मे ही भ्रमण कर रहा है।इसके कारण ही इन्हे जीवन की सर्व उच्च उपलब्धि प्राप्त होगी।
प.चंद्रशेखर नेमा"हिमांशु"
9893280184,7000460931

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं