AIIMS में भी व्यापमं जैसा घोटाला, पर्चा लीक, सीटें बेचने का आरोप

Friday, June 2, 2017

नई दिल्ली। भारत के सबसे प्रतिष्ठित चिकित्सा शिक्षा संस्थान अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) पर भी दाग लगता नजर आ रहा है। कहा जा रहा है कि यहां भी मप्र के व्यापमं जैसा घोटाला हो रहा है। व्यापमं घोटले के व्हिसिल ब्लोअर डॉ. आनंद राय ने दावा किया है कि एम्स में सीटें बेची जा रहीं हैं। एमबीबीएस पाठ्यक्रम के लिए इस वर्ष आयोजित प्रवेश परीक्षा का प्रश्न-पत्र लीक हुआ था। राय के दावे के बाद एम्स ने इस मुद्दे की जांच के लिए एक समिति गठित कर दी है।

राय ने कई ट्वीट कर प्रवेश परीक्षा के प्रश्नपत्रों की तस्वीर पोस्ट की। यह परीक्षा 28 मई को देशभर में आयोजित हुई थी। उन्होंने कहा कि उन्हें एक सूत्र से प्रश्नपत्र के स्क्रीनशॉट प्राप्त हुए, जिसने दावा किया कि लखनऊ के एमसी सक्सेना कॉलेज से ऑनलाइन परीक्षा के दौरान प्रश्नपत्र लीक हुआ था।

एम्स ने कहा कि उसने मामले की जांच के लिए एक समिति गठित कर दी है और तथ्यों का सत्यापन हो जाने के बाद जरूरी कार्रवाई के लिए वह जांच एजेंसियों के संपर्क में है। संस्थान ने एक बयान में कहा, ‘एम्स ने इन रिपोर्टों को काफी गंभीरता से लिया है और मामले की जांच के लिए एक समिति गठित की है। समिति मामले पर तुरंत विचार करेगी और जल्द से जल्द रिपोर्ट पेश करेगी।

एम्स ने यह भी कहा कि वह इस बाबत सरकारी जांच एजेंसियों के भी संपर्क में है। बयान के मुताबिक, ‘तुरंत और आगे की कार्रवाई तभी की जाएगी जब तथ्यों का सत्यापन हो जाएगा। राय ने अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री कार्यालय को भी टैग करते हुए मामले की सीबीआई जांच की मांग की।

उन्होंने बताया कि एम्स की ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा दो पाली में हुई थी और स्क्रीनशॉट इस बात को साबित करते हैं कि परीक्षा के समय प्रश्नपत्र लीक किया गया था। राय ने कहा, ‘मैं प्रधानमंत्री और एम्स के निदेशक से अपील करता हूं कि वे सीबीआई को मामले की जांच करने को कहें। उन्होंने आरोप लगाया कि एम्स की एमबीबीएस सीटें ‘बेची’ जा रही हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं