किसानों की विल पॉवर वीक है, इसलिए आत्महत्या कर रहे हैं: नंदकुमार सिंह चौहान

Thursday, June 29, 2017

बैतूल। मध्य प्रदेश में पिछले कुछ दिन से किसानों की आत्महत्याओं के कई मामले सामने आ चुके हैं। इस बीच भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा है कि, समस्याओं से लड़ने की 'विल पॉवर' (इच्छाशक्ति) कम होने के चलते किसान ही नहीं विद्यार्थी भी आत्महत्या कर रहे हैं। कई बार ऐसा होता है कि लोगों के मन के मुताबिक रिजल्ट नहीं आता और हताश होकर लोग आत्महत्या जैसा कदम उठा लेते हैं। 

चौहान 'किसान संदेश यात्रा' के लिए बैतूल पहुंचे थे। गुरुवार को संवाददाताओं से चर्चा के दौरान किसानों की आत्महत्या से जुड़े एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि आत्महत्या दु:खद पहलू है, चाहे किसान हो, व्यापारी हो, उद्योगपति या अधिकारी-कर्मचारी हो, समाज के विभिन्न वर्गों में आत्महत्याओं का बड़ा कारण समस्याओं से लड़ने का विल पावर कम होना हो गया है। इसके चलते किसान ही नहीं, विद्यार्थी भी अनुकूल रिजल्ट नहीं आने के कारण आत्महत्या जैसा कदम उठा रहे हैं।

सरकार हर पहलू पर नजर रखे हुए हैं
किसानों की आत्महत्याओं के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि सरकार हर पहलू पर नजर रखे हुए है, किसानों के मामले पर सरकार समीक्षा कर रही है। चौहान ने कहा कि बीते 13 वर्षों से सरकार ने मध्य प्रदेश में किसानों के लिए जितना किया है, उतना पहले कभी नहीं हुआ। किसानों को सरकार बिना ब्याज का कर्ज दे रही है। पहले प्रदेश में किसानों को 2 से 3 हजार करोड़ कर्ज मिल रहा था और अब शिवराज सिंह चौहान सरकार में यह बढ़कर 17 हजार करोड़ हो गया है।

डिफाल्टर किसानों के लिए सरकार ने बनाई योजना
भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि अब जो किसान कर्ज के कारण डिफाल्टर हो गए हैं, उनके लिए सरकार ने समाधान योजना के तहत पुनः ऋण देने की योजना बनाई है, जिससे डिफाल्टर होने के बाद भी किसान को कर्ज मिल सके।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week