अब पौधारोपण की गिनती के लिए शिक्षकों की ड्यूटी

Thursday, June 29, 2017

भोपाल। नया शिक्षण सत्र शुरू हो गया है। स्कूलों में काफी औपचारिकताओं को बोझ है। शिक्षकों को पढ़ाने के अलावा भी काफी काम हैं। बावजूद इसके प्रदेशभर में 2 जुलाई को होने वाले पौधारोपण अभियान में अब शिक्षकों की ड्यूटी लगा दी गई है। शिक्षक अब इस पूरे आयोजन के चश्मदीद गवाह बनेंगे। इस ऐतिहासिक पौधारोपण को प्रदेश सरकार गिनीज बुक में दर्ज करवाना चाहती है। 

गिनीज बुक वालों ने कहा है कि वे इस रिकॉर्ड को मानेंगे, लेकिन लोगों की पूरी संख्या गिनने के लिए उनके पास आदमी नहीं हैं, इसलिए शासन ही कुछ सरकारी लोगों को इसका गवाह बनाए। इसके बाद जिला पंचायत ने इंदौर जिले के शिक्षकों को यह काम सौंपा है। हर 50 व्यक्तियों की गिनती में एक-एक शिक्षक रहेगा। वे अब हर पौधे और लोगों की गिनती करेंगे।

इससे पहले शिक्षकों की ड्यूटी सरकारी सामूहिक विवाह सम्मेलन में भोजन वितरण के लिए लगा दी गई थी। एक धार्मिक आयोजन पर जूते स्टेंड पर भी शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई थी। यह सबकुछ उस समय हो रहा है जबकि सुप्रीम कोर्ट आदेश जारी कर चुका है कि शिक्षकों से गैर शैक्षणिक कार्य नहीं लिए जाने चाहिए। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week