किसानों से धोखा देने वाली शिवराज सरकार को बर्खास्त करो: बसपा

Thursday, June 15, 2017

भोपाल। किसानों को न्याय दिलाने एवं अमन-चैन बनाए रखने के लिए सरकार को बर्खास्त कर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाया जाए। बहुजन समाज पार्टी ने राज्यपाल को सौंपे ज्ञापन में यह मांग की है। बसपा जिला प्रभारी एमएस टिटोरिया, उमाशंकर विश्वकर्मा एवं जिलाध्यक्ष अनिता अहिरवार सहित कई पदाधिकारियों ने ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2013 के आम चुनाव के दौरान भाजपा ने किसानों से वायदा किया था कि फसल की लागत मूल्य का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य दिया जाएगा। किसानों को कर्ज मुक्त किया जाएगा, लेकिन यह वायदा पूरा नहीं किया। ज्ञापन में यह भी कहा गया कि अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पुलिस के गोलीचालन से 7 लोग मारे गए। 

मायावती ने मप्र के नेताओं से कहा: किसानों की मदद करो
नई दिल्ली। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने मध्य प्रदेश में किसानों पर पुलिस की बर्बर कार्रवायी की निंदा करते हुये इसे भाजपा की दमनकारी नीतियों का परिणाम बताया। बसपा की ओर से आज जारी मायावती के बयान में कहा गया है कि मध्य प्रदेश में निर्दोष किसानों पर पुलिस की गोलीबारी में छह किसानों की मौत न सिर्फ दुखद है बल्कि राज्य सरकार के किसान, मजदूर और गरीबों के प्रति दमनचक्र को भी दर्शाती है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार और भाजपा शासित राज्यों में दलित, अल्पसंख्यक, मजदूर गरीब और किसान विरोधी गतिविधियों का सिलसिला बदस्तूर जारी है।

मायावती ने कहा कि देश भर में भूमि अधिग्रहण के नाम पर किसानों की जमीन उद्योगपतियों को लगातार हस्तांतरित किये जाने के कारण किसानों का असंतोष आंदोलन के रुप में सड़कों पर आज दिख रहा है। इसे दबाने की कोशिश के फलस्वरुप मंदसौर जैसी घटनायें विभिन्न राज्यों में पिछले तीन सालों से लगातार हो रही है।

बसपा प्रमुख ने पार्टी की मध्य प्रदेश इकाई के नेताओं को पीड़ित किसान परिवारों की हरसंभव मदद मुहैया कराने का निर्देश देते हुये कहा कि वह स्वयं पीडित परिवारों से मिलकर अपनी संवेदना व्यक्त करना चाहती हैं, लेकिन कानून व्यवस्था के नाम पर राज्य सरकार विपक्ष के नेताओं को किसानों से मिलने की अनुमति नहीं दे रही है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं