सिर पर कफन बांधकर निकले हैं किसान, पुलिस की 8 गाड़ियां जलाईं, 2 अधिकारी घायल

Sunday, June 4, 2017

भोपाल। आंदोलन कर रहे किसान सिर पर कफन बांधकर निकले प्रतीत हो रहे हैं। जहां जहां पुलिस लाठी का उपयोग कर रही है, किसान हमलावर हो जाते हैं और अचानक छापामार हमला कर देते हैं। रतलाम में भी ऐसा ही हुआ। जैसे ही पुलिस ने लाठी का दम दिखाया, किसानों ने हमला बोल दिया। पुलिस के 8 वाहन जला डाले। इस हमले में 2 पुलिस अधिकारी घायल हो गए। 

रतलाम के चांदनीचौक-कसारा बाजार कार्नर में किसानों ने रविवार सुबह सब्जी दुकाने बंद कराने का प्रयास किया। इस दौरान हंगामे की स्थिति बन गई और कई सब्जी विक्रेताओं की सब्जियां फेंक दी गई व ग्राहकों से भी मारपीट की गई। करीब आधा दर्जन लोगों को चोटें आई है।

उधर ग्राम डेलनपुर में सुबह दूध विक्रेताओं को आंदोलनकारियों ने रोका, इस पर दिनभर विवाद की स्थिति बनी। शाम को पुलिस अधिकारियों की समझाइश के दौरान आंदोलनकारी और उग्र हो गए व पथराव कर दिया। देर शाम पुलिस की 8 गाड़ियां फूंक दी। फोर्स को भी घेर लिया गया।

पथराव में पुलिस लाइन में पदस्थ एसआई मोतीराम चौधरी व औद्योगिक क्षेत्र थाने के एएसआई पवनकुमार यादव घायल हो गए। उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया। प्राथमिक उपचार के बाद यादव को इंदौर रेफर किया गया है। पुलिस ने भी उपद्रवियों से निपटने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और बल प्रयोग भी किया। उधर, किसान आंदोलन के चलते शनिवार रात ताल में उपजे विवाद के बाद वाहनों में आग लगाने की घटना के बाद रविवार नगर बंद रहा।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week