मप्र: 4 किसानों की आत्महत्या पर कृषिमंत्री ने कहा: इसमें हम क्या कर सकते हैं

Wednesday, June 14, 2017

भोपाल। शिवराज सिंह सरकार किसानों को भड़काने वाले के खिलाफ कार्रवाई की बात कर रही है ओर उनकी ही सरकार के मंत्री किसानों को भड़काने वाले बयान दे रहे हैं। कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने पहले किसानों का कर्ज माफ करने से साफ इंकार कर दिया था। अब एक दिन में 4 किसानों की आत्महत्या पर विवादित बयान देते हुए कह दिया कि 'किसान आत्महत्या कर रहे हैं तो इसमें हम क्या कर सकते हैं।'

बता दें कि मप्र में किसान आंदोलन के बाद 1 दिन में 4 किसानों ने आत्महत्या कर ली है। इस दुखद घटना पर कृषिमंत्री गौरीशंकर बिसेन ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह कैसे प्रमाणित हाेगा कि यह आत्महत्याएं हैं। मौत कैसे हुई, यह जांच का विषय है। प्रदेश में 85%आबादी किसानों की है। तनाव के क्षण हैं। जो कदम नहीं उठाने चाहिए, वे उठा लेते हैं। इसमें हम क्या करेंगे। उन्होंने एक बार फिर दोहराया कि जब हमारी सरकार ने छह साल में एक रुपए भी ब्याज नहीं लिया। जीरो प्रतिशत पर कर्ज दिया तो फिर कर्जमाफी किस बात की। यह पहली सरकार है जिसने किसानों के लिए बहुत काम किया।

पुलिस के मुताबिक, होशंगाबाद के भैरोपुर गांव के किसान माखनलाल का शव मंगलवार को पेड़ से लटका मिला। परिजनों का कहना है कि माखनलाल सुबह चार बजे घर से खेत की ओर निकले थे। इसके बाद उनका शव मिला। माखनलाल पर तकरीबन 5.5 लाख का कर्ज था। इसे चुकाने के लिए वह अपनी 15 एकड़ में से 9 एकड़ जमीन बेच चुके थे। अब जमीन कम होने और कर्ज बढ़ते जाने से परेशान थे।

दूसरी घटना बड़वानी में हुई। यहां ग्रामीण थाना क्षेत्र के ग्राम पिसनावल में शोमला (60) ने सुबह करीब 10 बजे खेत के कुएं के पास कीटनाशक पी लिया। इससे उसकी मौत हो गई।उसकी पत्नी झुमकीबाई ने पुलिस को बताया पति ने गांव के हरसिंह को खेत गिरवी रख दो लाख रुपए का कर्ज लिया था। बैंक का भी एक लाख कर्ज था।

उधर, विदिशा जिले के शमशाबाद थाने के जीरापुर में सोमवार की रात किसान हरि सिंह जाटव ने जहर खा लिया। उन्हें इलाज के लिए भोपाल लाया गया, जहां उपचार के दौरान देर रात उनकी मौत हो गई। हरिसिंह के परिजनों का आरोप है उनके परिवार की जमीन का पिछले दिनों सीमांकन हुआ था, जिसमें पटवारी ने उसके हिस्से की जमीन को रिश्तेदार के नाम कर दिया। हरि सिंह ने कई जगह गुहार लगाई, मगर किसी ने नहीं सुनी। इससे क्षुब्ध होकर उसने जहर खा लिया।

इसी तरह सीहोर जिले के रहटी थाना क्षेत्र के जजना गांव में पांच लाख के कर्जदार दुलीचंद्र की सोमवार को संदिग्ध हालत में मौत हो गई। परिजन आत्महत्या की आशंका जता रहे हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week