मंत्री बिसेन ने बालाघाट ब्लास्ट में अनाथ हुई 21 बेटियों को गोद लिया

Thursday, June 8, 2017

भोपाल। अक्सर विवादित बयानों के कारण सुर्खियों में आने वाले मप्र के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने बालाघाट ब्लास्ट में अनाथ हुईं 21 बेटियों को गोद लिया है। भोपालसमाचार.कॉम से बात करते हुए श्री बिसेन ने कहा कि मैं व्यक्तिगत रूप से इनकी देखभाल करूंगा एवं पढ़ाई लिखाई से लेकर विवाह तक की सभी जिम्मेदारियां निभाऊंगा। इसके अलावा इस हादसे में अनाथ हुए बालकों की पढ़ाई लिखाई की चिंता करने का भी ऐलान किया गया है। 

बालाघाट विधानसभा के ग्राम खेरी विकासखंड बालाघाट में दिनांक 07 जून 2017 को अपरान्ह 03 से 04 बजे के बीच एक लायसेंस शुदा पटाखा बनाने वाले मकान में अचानक धमाका होने से 24 लोगों का अकास्मिक निधन हो गया तथा 4 लोग अत्यंत गंभीर रूप से घायल हो गये जिन्हें स्थानीय मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने बर्न चिकित्सालय भिलाई (छत्तीसगढ़) में तत्काल भर्ती कराया। जहां पर गंभीर रूप से घायल श्री कुलदीप पिता विनोद श्रीवास्तव, निवासी वार्ड नं. 2 भटेरा - स्थाई निवासी कटंगी जिला बालाघाट का निधन हो गया। शेष 03 गंभीर रूप से घायल कु0 आरती पिता गणेश उम्र 19 वर्ष निवासी ग्राम खैरी बालाघाट, कु. रूबीना पिता मेहताब (मुस्लिम) 23 वर्ष निवासी भरवेली बालाघाट, श्रीमति सरिता कन्हैया भलावी उम्र 40 वर्ष निवासी भरवेली जिला बालाघाट का इलाज जारी है। वे 75 प्रतिशत से अधिक जले होने के कारण जिन्दगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे हैं। इसके अतिरिक्त दो सामान्य घायलों का इलाज जिला चिकित्सालय बालाघाट में किया जा रहा है। 

मंत्री गौरीशंकर बिसेन द्वारा अपने समस्त कार्यक्रमों को निरस्त कर ग्राम खैरी में हुई इस हृदयविदारक दुर्घटना स्थल पर पत्नी श्रीमति रेखा बिसेन के साथ पहुंचकर मृतकों एवं पीडि़तों के परिवारों से भेंट कर ढांढस बंधाया। चार मृतकों का अंतिम संस्कार रात्रि में तथा तीन का प्रातः संपन्न कराया गया। एक मृतक कटंगी तथा एक छत्तीसगढ़ का निवासी होने के कारण उन्हें अत्योष्टि हेतु परिजनों को सौंपा गया। मंत्री बिसेन द्वारा 16 मृतकों को क्रमशः कंधा देकर अंतिम संस्कार का क्रियाकर्म संपन्न कराया गया। 

मंत्री बिसेन द्वारा प्रत्येक मृतकों के परिवार को मुख्यमंत्री द्वारा प्रदान की जाने वाली दो-दो लाख की आर्थिक सहायता, आरबीसी 6-4 (मद-58) के अंतर्गत प्रदान की जाने वाली चार-चार लाख की आर्थिक सहायता के अतिरिक्त अपने वेतन से एक-एक लाख रू. की राशि सभी परिजनों के खाते में जमा कराने की घोषणा की गई तथा दुर्घटना में मृतकों के सभी 20 पुत्रों को पढ़ाई के लिए रू0 50-50 हजार स्वेच्छानुदान से प्रदान करने की घोषणा की गई तथा 21 पुत्रीयों को गोद लेकर उनके लालन-पालन एवं शिक्षा की भी घोषणा की गई। इसके पूर्व भी मंत्री बिसेन द्वारा चौरई जिला छिंदवाड़ा की दो बेटियों एवं करेली जिला नरसिंहपुर की एक बेटी को गोद लेकर उनका लालन-पालन किया जा रहा है। 

सबकी परंपरानुसार त्रयोदशी आयोजन भी कराएंगे
मंत्री बिसेन द्वारा पीडि़त परिवारों का बीपीएल कार्ड बनाये जाने एवं मकान न होने की स्थिति में मुख्यमंत्री आवास योजना/प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत मकान उपलब्ध कराये जाने की भी घोषणा की गई। इस अवसर पर श्रीमति रेखा बिसेन द्वारा मृतकों की दसक्रिया-कर्म एवं तेरहवीें का क्रिया-कर्म रीतिरिवाज से कर भोजन व्यवस्था भी करने की घोषणा की गई। 

इस हृदयविदारक दुर्घटना से पीडि़त शोकसंतप्त परिवारों को ढांढस बंधाने हेतु दिनांक 09 जून 2017 को रात्रि 08.30 बजे सामुदायिक भवन भरवेली के सामने शोकसभा रखी गई है जिसमें प्रभारी मंत्री शरद जैन, स्थानीय मंत्री गौरीशंकर बिसेन  एवं जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमति रेखा बिसेन सहित जिले के अन्य जनप्रतनिधि भी उपस्थित रहेंगे। मंत्री बिसेन द्वारा मंदसौर में शहीद हुये 6 किसानों के परिवार को अपनी स्वेच्छानुदान राशि से 20-20 हजार रूपये भी प्रदान करने की घोषणा की गई। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं