अशोकनगर नीलामी कांड: 163 बीघा सरकारी जमीन मात्र 2.88 लाख में SDM की पत्नि के नाम | AKHILESH JAIN

Friday, June 23, 2017

भोपाल। ग्वालियर संभाग के अशोकनगर जिले में नीलामी कांड प्रकाश में आया है। मैच फिक्सिंग की तरह यह नीलामी फिक्सिंग का मामला है। एसडीएम अखिलेश जैन अपने सरकारी वाहन से मुंगावली तहसील पहुंचे। एसडीएम सुमनलता महौर ने नीलामी की शुरूआत की। नीलामी 163 बीघा सरकारी जमीन की होनी थी। नीलामी में सिर्फ 2 लोगों ने भाग लिया। एसडीएम अखिलेश जैन अपनी पत्नि के साथ पहुंचे जबकि एक अन्य किसान को औपचारिकता पूरी करने के लिए बुलाया गया और मात्र 2.88 लाख रुपए में 163 बीघा सरकारी जमीन एसडीएम की पत्नि वैशाली जैन के नाम कर दी गई। 

मामला गुपचुप निपट ही रहा था कि एक जागरुक नागरिक ने पूरा वीडियो रिकॉर्ड करके वायरल कर दिया। अशोकनगर से चलता हुआ वीडियो भोपाल आ पहुंचा। वायरल वीडियो में एसडीएम अभिषेक जैन अपनी पत्नी वैशाली जैन के साथ बैठकर सरकारी जमीन की नीलामी में बोली लगाते हुए दिखाई दे रहे हैं। वे मंगलवार दोपहर अपनी सरकारी गाड़ी से मुंगावली तहसील परिसर पहुंचे। इसके कुछ समय बाद मुंगावली एसडीएम सुमनलता माहौर की अध्यक्षता में नीलामी प्रक्रिया शुरू हुई, जिसमें जैन बिना किसी संकोच के अपनी पत्नी वैशाली के नाम पर बोली लगाते रहे। अंत में 163 बीघा जमीन की बोली इनकी वैशाली के ही नाम पर दो लाख 88 हजार रुपए में पूरी हुई।

मुंगावली तहसील के सेमरखेडी गांव में स्थित आदिम जाति कल्याण विभाग के स्वामित्व वाली इस 163 बीघा जमीन की ठेका पद्धति आधारित खेती के लिए की जाने वाली नीलामी में हर साल कई किसान शामिल होते थे। इस साल नीलामी में अशोकनगर एसडीएम की पत्नी का नाम सामने आने के बाद सिर्फ रघुवीर सिंह यादव नाम का एक किसान ही बोली में शामिल हुआ। कहते हैं उसे भी औपचारिकता पूरी करने के लिए बुलाया गया था। तय किया गया था कि खेती रघुवीर सिंह ही करेगा। वो एसडीएम का बटाईदार पार्टनर होगा। अत: उसने औपचारिकता पूरी की ओर नीलामी से बाहर हो गया। इस तरह 163 बीघा सरकारी जमीन एसडीएम की पत्नि वैशाली के नाम हो गई। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week