VHP का पूर्व संगठन मंत्री एवं भाजपा नेता सेक्स रैकेट चलाते गिरफ्तार

Friday, May 19, 2017

भोपाल। विश्व हिंदू परिषद का पूर्व संगठनमंत्री एवं अनुसूचित जाति मोर्चा भाजपा का नेता नीरज शाक्य आज भोपाल में सेक्स रैकेट संचालित करते हुए पकड़ा गया। उसके गिरोह में 9 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने दावा किया है कि यह रैकेट महाराष्ट्र एवं मेघालय से लड़कियों को नौकरी दिलाने के नाम पर लाता था एवं जिस्म के कारोबार में धकेल दिया करता था। यह लगातार दूसरा बड़ा मामला है। कुछ दिनों पहले भाजपा नेता बन चुका पाकिस्तान का जासूस भी ध्रुव सक्सेना भी पकड़ा गया था। 

साइबर क्राइम ने भोपाल ने ई-7, अरेरा कॉलोनी में छापा मारकर 9 लोगों को गिरफ्तार किया है। इन लोगों ने जॉब का प्रलोभन देकर मेघालय और महाराष्ट्र की कई लड़कियों को सेक्स रैकेट में धकेल रखा था। AIG साइबल सेल शैलेंद्र चौहान ने बताया कि आरोपी वेबसाइट के जरिये सेक्स रैकेट संचालित कर रहे थे। पुलिस को को लगातार शिकायत मिल रही थी कि, एक अश्लील वेबसाइट के जरिये कुछ लोग लड़कियों की सप्लाई करते हैं। ये लोग जॉब से जुड़ीं विभिन्न साइटों पर अपना बायोडेटा अपलोड करने वालीं लड़कियों से संपर्क करते थे। ये लोग जॉब का ऑफर देकर उन्हें भोपाल बुलाते थे, फिर सेक्स रैकेट में धकेल देते थे।

पुलिस ने छापा मारकर 4 लड़कियों को भी बचाया है। पकड़े गए आरोपियों में दिनेश उर्फ डेविड, सुरेश गहलोत उर्फ शैलेंद्र, रवि प्रजापति, हरजीत धनवानी, मनोज कुमार गुप्ता, कृष्णकुमार जायसवाल, सुरेश बेलानी, मिसवा उद्दीन के अलावा नीरज शाक्य भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा का प्रदेश मीडिया प्रभारी है। 

नंदकुमार सिंह ने कहा: हमने उसे निकाल दिया है
सात दिन पहले भाजपा के संगठन महामंत्री सुहास भगत एवं प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह ने तमाम परीक्षणों के बाद नीरज शाक्य की नियुक्ति अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रदेश मीडिया प्रभारी के रूप में की गई थी। आज मामले का खुलासा होने के बाद नंदकुमार सिंह चौहान ने बयान दिया है कि उसे भाजपा से निकाल दिया गया है।

भोपाल में लगे हैं दर्जनों होर्डिंग
हफ्ते भर पहले ही नीरज शाक्य की नियुक्ति हुई थी। भोपाल भर में उसकी नियुक्ति एवं बधाईयों वाले होर्डिंग्स लगे हुए हैं। बताया जा रहा है कि नीरज लंबे समय से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का कार्यकर्ता भी रहा है। उसकी सक्रियता को देखते हुए उसे विश्व हिंदू परिषद में भेजा गया था एवं अच्छा काम करने पर भाजपा में पदोन्नत किया गया।

गुटबाजी में फंस गया नीरज
पॉलिटिकल सूत्रों का कहना है कि नीरज शाक्य को गुटबाजी के चलते फंसाया गया है। वो इस गिरोह में शामिल नहीं है परंतु एक षडयंत्रपूर्वक नीरज को इस रैकेट के संपर्क में लाया गया और ठीक उस समय छापामारी करवाई गई जब नीरज रैकेट संचालकों के साथ था। इसी के चलते पुलिस ने नीरज का रिमांड भी नहीं मांगा। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week