ये है SPIRIT OF KASHMIR: एसआई के 689 पदों के लिए 66000 आवेदन

Sunday, May 14, 2017

नई दिल्ली। कश्मीर में लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की बेरहमी से मौत के बावजूद जम्मू कश्मीर के युवाओं में देश के लिए काम करने का जज्बा कम नहीं हुआ है। सब-इंस्पेक्टर की 689 पोस्ट्स के लिए 66000 से ज्यादा युवाओं ने अप्लाई किया है। यह अब तक की सबसे बड़ी संख्या है और आतंकवादी समूहों पर तमाचा भी। आज अभ्यर्थियों ने पीईटी ( Physical Endurance Test) और पीएसटी (Physical Standard Test) दिया। आतंकियों ने युवाओं को धमकी दी थी कि अगर वे पुलिस, सिक्युरिटी फोर्सेज और आर्मी में भर्ती हुए तो उनका भी वही हश्र होगा, जो फैयाज का हुआ है। बावजूद इसके इतनी बड़ी संख्या में युवा सामने आए हैं। 

न्यूज एजेंसी और मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कई आतंकी संगठन समय-समय पर वीडियो जारी कर कश्मीरी युवाओं को सिक्युरिटी फोर्सेज ज्वाइन करने को लेकर धमकी देते रहे हैं लेकिन इस बार इतनी संख्या में युवाओं का पुलिस भर्ती में शामिल होना इस बात का संकेत माना जा रहा है कि उन्होंने ऐसी धमकियों को अब दरकिनार कर दिया है। बख्शी स्टेडियम में भर्ती के लिए पहुंचने वालों में सबसे ज्यादा संख्या जम्मू रीजन के युवाओं की थी। 

सब-इंस्पेक्टर की पोस्ट्स के लिए जो 66 हजार एप्लिकेशन आए हैं उनमें 35 हजार कश्मीर से और 31000 जम्मू से हैं। जम्मू-कश्मीर पुलिस के स्पोक्सपर्सन ने बताया कि घाटी के एप्लिकांट्स के लिए फर्स्ट फेज के टेस्ट शनिवार को हुए। बाकी जिलों में भी आगे इसी तरह टेस्ट ऑर्गनाइज किए जाएंगे।

6000 लड़कियों ने भी दिए एप्लिकेशन
जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद्य ने बताया, "सब-इंस्पेक्टर की पोस्ट्स के लिए 6000 लड़कियों ने भी एप्लिकेशन दिए हैं। ये इस बात को साबित करता है कि कश्मीरी लड़कियां कंजरवेटिव सोसायटी के बंधनों से बाहर निकलना चाहती हैं। श्रीनगर से एप्लिकेशन देने वाली नुसरत जां ने कहा, "मैं यहां की महिलाओं की मदद करना चाहती हूं, मैंने कश्मीर की महिलाओं को बहुत बुरे वक्त का सामना करते देखा है।" साइंस ग्रेजुएट मोहम्मद रफीक भट्ट ने कहा, "मुझे मालूम है कि घाटी में पुलिस को आतंकियों से लगातार धमकी मिल रही है, लेकिन फिर भी मैं आतंकवाद के खतरे का सामना करने को तैयार हूं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week