MY HOSPITAL के दरवाजे पर 2 दिन पड़ी थी लाश, चीटियां खा रहीं थीं

Thursday, May 11, 2017

इंदौर। लापरवाही और इस तरह की असंवेदनशील घटनाओं के लिए बदनाम हाते जा रहे एमवाय अस्पताल में पिछले 2 दिनों से दरवाजे पर किसी अज्ञात युवक की लाश पड़ी थी। उसे ​चीटिंयां खा रहीं थीं परंतु प्रबंधन ने उस लाश की तरफ ध्यान ही नहीं दिया। लोगों ने जब प्रबंधन को इसकी जानकारी दी, तब भी कोई कदम नहीं उठाया गया। लाश बदबू मारने लगी थी तभी लोगों ने मीडिया को सूचना दी। इंदौर स्थित महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय प्रदेश का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल है, लेकिन यह अस्पताल काम की बजाय लापरवाही को लेकर हमेशा चर्चा में रहता है। बुधवार रात अस्पताल के गेट पर एक व्यक्ति की लाश पड़ी थी। उसके शरीर पर चींटियां रेंग रही थीं। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक यह व्यक्ति दो दिन से इसी हाल में यहां पड़ा था। कई बार अस्पताल प्रशासन को सूचना देने के बाद भी किसी ने सुध नहीं ली। इस पर कुछ लोगों ने मीडिया को सूचना दी। मीडिया के पहुंचते ही अस्पताल प्रशासन ने आनन-फानन में उसे मर्चूरी में रखवाया। संयोगिता गंज के प्रधान आरक्षक मनोहर सिंह बघेल का कहना है कि अभी मृतक की पहचान नहीं हुई है। मर्ग कायम जांच कर रहे हैं।

पहले भी हो चुका है ऐसा हादसा
गौरतलब है कि इसके पहले इंदौर के जिला अस्पताल के मर्चुरी में एक मासूम के शव को चींटियों ने खा लिया था। इसके पहले एमवाय अस्पताल के ओटी में डॉक्टरों की लापरवाही के चलते गलत गैस चढ़ाने से कुछ बच्चों की मौत हो गई थी। एमवाय में अस्पताल के बाहर डिलेवरी के मामले सामने आ चुके हैं।

मामले की जांच करवा रहे हैं
रात को पुलिस के माध्यम से लावारिस लाश की सूचना मिली थी। शव को मर्चुरी में रखवा दिया है। अस्पताल परिसर में कई अनजान लोग रहते हैं। सबकी जानकारी नहीं होती है कि किसके साथ क्या दुर्घटना हुई। हम इस मामले में हम जांच करवा रहे हैं। 
डॉ. वीएस पाल, अधीक्षक एमवायएच

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week