MODI@3: राहुल गांधी ने सिंधिया और कमलनाथ दोनों को मप्र से दूर रखा

Friday, May 26, 2017

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने शुक्रवार (26 मई) को तीन साल पूरे कर लिए हैं। इस अवसर पर कांग्रेस ने सरकार को पूरे देश में घेरने की रणनीति बनाई। कांग्रेस के दिग्गज आज देश के सभी बड़े शहरों में प्रेसकांफ्रेंस कर रहे हैं। उम्मीद थी कि इस अवसर पर भोपाल का मोर्चा संभालने के लिए सिंधिया या कमलनाथ को भेजा जाएगा। इस तरह यह भी पता चल जाएगा कि हाईकमान किसे कितना वजन दे रहा है परंतु राहुल गांधी ने बड़ी ही चतुराई के साथ दोनों को मप्र से दूर रखा। कमलनाथ ने दिल्ली से प्रेस को संबोधित किया जबकि ज्योतिरादित्य सिंधिया को चंडीगढ़ भेजा गया। अजीब बात यह भी है कि दिग्गजों की इस लिस्ट में दिग्विजय सिंह का नाम ही नहीं है। भोपाल में एआईसीसी की तरफ से मुकुल वासनिक को भेजा गया है। 

मप्र में इन दिनों 'कौन होगा कांग्रेस का खैवनहार' शो चल रहा है। ग्वालियर से सिंधिया के लिए आवाजें बुलंद हो रहीं हैं तो छिंदवाड़ा से कमलनाथ के लिए। कमलनाथ ने मप्र कांग्रेस की कमान हासिल करने के लिए पूरा जोर लगा दिया है। पिछले दिनों उनके समर्थकों ने कुछ इस तरह की अफवाहें उड़ा दीं थीं कि राहुल गांधी को अचानक अरुण यादव को दिल्ली बुलाकर स्थिति स्पष्ट करनी पड़ी। अब फैसला राहुल गांधी को करना है। वो नहीं चाहते कि किसी भी तरह का भ्रम बना रहे और गलत फैसला हो जाए। शायद इसीलिए उन्होंने अपने नेटवर्क से फीडबैक आने तक दोनों नेताओं को मप्र से दूर कर दिया है। 

कमलनाथ ने मोदी पर दिल्ली से हमला बोला 
कमलनाथ ने दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए मोदी सरकार की उपलब्धियों को बतौर भाषणबाजी और आश्वासन करार दिया। उनके मुताबिक इन दो उपलब्धियों के अलावा उनके पास कोई उपलब्धियां गिनाने के लिए नहीं है। कांग्रेस के बड़े नेता कमलनाथ ने कहा कि मोदी सरकार का पूरा ध्यान सिर्फ प्रचार पर है, उनके पास देश के लिए कोई ठोस नीति मौजूद नही है।

उन्होंने कहा कि भाजपा अपनी सरकार के तीन साल पूरे होन के जश्न में दो हजार करोड़ रुपए खर्च कर रही है, जबकि इन तीन सालों में देश के किसानों की बद से बदतर हालत हो गयी है। सबसे ज्यादा किसानों ने आत्महत्या मोदी सरकार के कार्यकाल में ही की है। किसानों को फसल बीमा योजना का कोई फायदा नहीं मिला है।

कमलनाथ ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने पिछले तीन सालों में कुछ नहीं किया है। मोदी सरकार ने "मेक इन इंडिया", जनधन और स्वच्छ भारत अभियान जैसी योजनाओं के प्रचार पर ध्यान दिया है। कमलनाथ ने काले धन वापसी के वादे पर मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा, "सरकार बताए कि कितना काला धन वापस आया है, साथ ही यह भी बताए कि नोटबंदी से देश को कितना फायदा हुआ।

कमलनाथ के अलावा देशभर में मोदी सरकार के तीन सालों की पोल खोलने को लेकर कांग्रेस की ओर से प्रेस कांफ्रेंस की जा रही हैं। मोदी सरकार के तीन साल के जश्न में विरोध में कांग्रेस की ओर से भाजपा सरकार के तीन असफल वर्ष की पोल खोल योजना के तहत कांग्रेस पार्टी के नेताओं की ओर से आज देशभर में प्रेस कांफ्रेंस की जाएंगी। कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला की ओर से इसकी एक लिस्ट सौपी गयी है, जो कुछ इस तरह है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week