इंदिरा गांधी की तरह नौकरशाहों से सीधे HOTLINE पर बात करेंगे मोदी

Friday, May 26, 2017

नई दिल्ली। भारत में अब तक की सबसे शक्तिशाली पीएम इंदिरा गांधी की राह पर अब नरेंद्र मोदी भी चल पड़े हैं। इंदिरा गांधी ने देश में पहली बार पीएमओ को देश का एकमात्र शक्तिकेंद्र बनाया था, अब मोदी भी ऐसा ही करने जा रहे हैं। हॉटलाइन पर नौकरशाहों से वो सीधे संपर्क करेंगे। नौकरशाह भी सीधे पीएम मोदी को अपने सुझाव दे सकेंगे। इतना ही नहीं जूनियर ऑफिसियल्स भी माई-गवर्नमेंट पोर्टल के जरिए सीधे पीएमओ से कनेक्ट हो सकेंगे। याद दिला दें कि इंदिरा गांधी के शासनकाल में पीएमओ ने पूरे देश के नौकरशाहों पर सीधा नियंत्रण स्थापित किया था। यही कारण रहा कि संचार साधनों की कमी के बावजूद इंदिरा गांधी अपनी बात पूरे देश में एक समय पर पहुंचा पातीं थीं। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सभी नौकरशाहों एक हॉटलाइन के जरिए सीधे पीएम मोदी के संपर्क में आ सकते हैं। नौकरशाह पीएम मोदी के कॉन्टेक्ट में आकर अपने सुझाव डायरेक्ट उन्हें दे सकते हैं। इतना ही नहीं जूनियर ऑफिसियल्स भी पीएम मोदी को माई-गवर्नमेंट पोर्टल के जरिए अपने सुझाव दे सकेंगे।

इससे पहले अधिकारियों को पीएम के आगे अपनी बात रखने के लिए मंत्रालयों और विभागों की लंबी सुरक्षा प्रक्रिया से गुजरना पड़ता था। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक सचिव व नौकरशाह किसी भी मुद्दे पर बदलाव लाना चाहते हैं, तो उसपर तैयारी करके पीएम मोदी से अकेले में मिल सकते हैं। 

चौंका देने वाली बात है कि मोदी सरकार के कार्यकाल में पीएमओ अबतक की अपनी सबसे मजबूत स्थिती में है। एक अधिकारी ने बताया कि मोदी सरकार में आए बदलाव को इससे आंका जा सकता है। मनमोहन सरकार के समय में नौकरशाहों और सरकार के बीच गैप होता था। बता दें कि पीएम मोदी ने सत्ता में आते ही सभी सचिवों से मुलाकात की थी। इतना ही नहीं नौकरशाही में तबादलों का दौर जारी हो गया था।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week