कलेक्टर/एसपी रेत माफिया से मिले हुए हैं: BJP के पूर्वमंत्री का खुलासा

Monday, May 15, 2017

भोपाल। पूर्व मंत्री और भाजपा नेता कमल पटेल ने अवैध उत्खनन को लेके अपनी ही सरकार के अफसरों को कटघरे में खड़ा किया है। उन्होंने कहा है कि एक तरफ सीएम शिवराज सिंह चौहान नर्मदा को स्वच्छ रखने के लिए नर्मदा सेवा यात्रा निकाल रहे हैं वहीं प्रशासन के कुछ अफसर रेत माफिया के साथ मिलकर सीएम की मंशा को पलीता लगाते हुए नर्मदा का सीना चीर रहे हैं। पटेल ने कहा कि नर्मदा से प्रतिदिन हजारों ट्रक अवैध रेत निकालकर उसका सीना छलनी किया जा रहा है। 

कमल पटेल ने कहा कि हरदा जिले में कलेक्टर, एसपी और अन्य अधिकारियों की मिलीभगत से नर्मदा के बीचों-बीच सड़क बनाकर रेत का अवैध उत्खनन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उन्होंने खुद जाकर पोकलेन मशीन को पकड़ा और उसे जब्त करने को कलेक्टर से कहा पर अब तक कलेक्टर ने कोई जब्ती नहीं बनाई है। उन्होंने कहा कि उनके मामला उठाने के बाद कल कंपनी पर 91 लाख का जुर्माना ठोका गया है। 

उन्होंने कहा कि कलेक्टर, एसपी रेत मािफया से मिले हुए हैं। इन्हें निलंबित कर इनके खिलाफ आपरधिक मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए। हरदा और आसपास के क्षेत्र में नर्मदा तटों पर हो रहे अवैध उत्खनन को लेकर कमल पटेल ने प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान से भी शिकायत की है। दो दिन पहले उन्होंने प्रदेशाध्यक्ष से मिलकर हरदा के छीपानेर समेत अन्य तटों पर हो रहे अवैध उत्खनन की बात कहते हुए इसके लिए जिला कलेक्टर और अन्य अधिकारियों को जिम्मेवार बताया था। 

कमल पटेल की ‘कमल सेना’ रोकेगी खनन
कमल पटेल ने बताया कि नर्मदा तटों पर हो रहे अवैध उत्खनन को रोकने के लिए कमल सेना का गठन किया है। उनका कहना है कि नर्मदा तटों पर होने वाले अवैध उत्खनन हो उनकी यह सेना सख्ती से रोकेगी और इस काम में लगे डंपरों को जब्त कर प्रशासन को सौंपेगी। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश सरकार अवैध उत्खनन के खिलाफ है पर कुछ अफसरों की मिलीभगत से निर्माण कार्यों में लगे ठेकेदार और कंपनियां बड़े पैमाने पर नर्मदा का उत्खनन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अवैध उत्खनन रोकने के लिए अब उनकी कमल सेना काम करेगी। पटेल ने कहा कि शिवराज सिंह की मंशा को अब वे अपने कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर पूरा करेंगे। 

माइनिंग टीम को हमने दिया पुलिस संरक्षण: SP
भोपाल। नर्मदा नदी में अवैध रेत उत्खनन पर सख्त कार्यवाही नहीं करने को लेकर एसपी हरदा आदित्य प्रताप सिंह पर भी आरोप लगे हैं। उनके खिलाफ पूर्व मंत्री कमल पटेल ने भी प्रदेश भाजपाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान को पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने अवैध रेत उत्खनन पर रोक लगाने में एसपी को अक्षम बताया था। इस मामले पर एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने कहा कि कमल पटेल या अन्य कोई राजनीतिक व्यक्ति को जो कहना है वे कहे, लेकिन मैं उनकी किसी भी बात पर कोई कमेंट नहीं करुंगाा। उन्होंने बताया कि जब भी जिला प्रशासन या माइनिंग पुलिस बल मांगता है उन्हें तत्काल पुलिस बल दिया जाता है। दो थानों और एक पुलिस चौकी में तो इसके लिए बल भी रिजर्व रखा गया है। पुलिस और माइनिंग ने हाल ही में 70 डम्पर अवैध रेत के जब्त किए हैं। हाल ही में रेत निकालने वाले पर जुर्माना भी प्रशासन ने लगाया है। यहां पर अवैध रेत उत्खनन को लेकर प्रशासन और पुलिस सतर्क हैं। समय-समय पर संयुक्त रूप से कार्यवाही भी हो रही है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week