नोटबंदी के नाम पर रिटायर्ड कर्नल की पत्नी को 50 लाख का चूना लगा गया कैशियर

Sunday, May 28, 2017

भोपाल। नोटबंदी के साइड इफैक्ट्स अभी भी सामने आ रहे हैं। यहां रिटायर्ड कर्नल की पत्नी श्वेता त्रिपाठी को उनके कैशियर ने नोटबंदी के नाम पर 50 लाख का चूना लगाया और फरार हो गया। 4 माह लंबी जांच के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। कैशियर इतना चालाक था क उसने फरार होते ही अपने परिवारवालों से अपनी गुमशुदगी का मामला दर्ज करा दिया। ताकि उनके परिवार पर पुलिस की पूछताछ का दवाब ना बन पाए। 

निशातपुरा पुलिस के मुताबिक चूना भट्टी निवासी संजय त्रिपाठी सेना से रिटायर्ड कर्नल हैं। उनकी निशातपुरा के करोंद क्षेत्र में रिलायबल नाम से फर्म है। तेल, शक्कर जैसी खाद्य सामग्री की सप्लाई करने वाली इस फर्म का संचालन उनकी पत्नी श्वेता करती हैं। फर्म का कैशियर निशातपुरा निवासी कपिल चौरसिया, माल सप्लाई करने के अलावा वसूली करने का काम करता था। नवंबर-दिसंबर-16 में कपिल ने फर्म से माल तो सप्लाई किया, लेकिन वसूली के पैसे अकाउंट में नहीं पहुंचे। उसने फर्म संचालक को बताया कि नोटबंदी होने के कारण व्यापारी रुपए बाद में देने का आश्वासन दे रहे हैं। जांच में पता चला कि कपिल ने माल सप्लाई करने के बाद मिला कैश फर्म में जमा करने के बजाए अपने पास ही रख लिया।

चेक बाउंस होने पर हुआ संदेह
जनवरी में भी उधारी नहीं मिलने पर संजय त्रिपाठी को शक हुआ, तो उन्होंने कपिल पर कैश न मिलने पर चेक से पेमेंट लेने को कहा। दबाव पड़ने पर कपिल ने जनवरी-17 में एक दस लाख रुपए का चेक फर्म में जमा कराया लेकिन अकाउंट में राशि न होने से चेक बाउंस हो गया। बैंक से पता चला कि वह चेक कपिल ने अपने खाते का दिया था। इस बीच अचानक कपिल लापता हो गया। साथ ही उसके परिजनों ने निशातपुरा थाने में बाकायदा कपिल की गुमशुदगी भी दर्ज करा दी। संजय त्रिपाठी की शिकायत की जांच करने के बाद निशातपुरा पुलिस ने कपिल चौरसिया के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week