नागरिक आपूर्ति निगम: 20 करोड़ का सरकारी चावल ठिकाने लगाने का षडयंत्र

Saturday, May 13, 2017

सुधीर ताम्रकार/बालाघाट। विगत 2 वर्ष पूर्व कस्टम मिंलिंग की प्रक्रिया के माध्यम से नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा कटंगी राइस मिलर्स द्वारा प्रदाय किया गया अमानक स्तर का लगभग 51 हजार क्विंटल चावल जिसका बाजार मूल्य लगभग 20 करोड रूपये बताया गया है को ठिकाने लगाने की जुगत रचाई जा रही है। यह उल्लेखनीय है कि इस चावल को अखादय और उपभोक्ताओं में वितरण योग्य ना बताते हुये इसकी निकासी पर रोक लगा दी गई है।

पूर्व में इस चावल को निलामी की प्रक्रिया के माध्यम से बेचे जाने का प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई थी लेकिन शिकायत किये जाने पर नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष डॉ.श्री हितेश वाजपेयी ने निलामी प्रक्रिया पर रोक लगाते हुये इसके पूनःनिरीक्षण किये जाने के निर्देश दिये थे।

अब पता चला है कि इस चावल को जिसमें कीडे लग चूके है तथा किसी भी रूप में खाने के लायक नही रह गया है की जांच करवाई गई जिसमें भारतीय खादय निगम के तकनीकी विशेषज्ञ भी शामिल थे जांच दल ने अपने प्रतिवेदन में इस चावल को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से वितरण ना किये जाने का अभीमत व्यक्त किया है लेकिन यह भी उल्लेख किया है कि इसे किसी अन्य रूप में खाने के लिये उपयोग किया जा सके।

इस तरह जांच प्रतिवेदन के आधार पर इस चावल को फिर से नीलाम करने की प्रक्रिया प्रांरभ कर दी गई है और अखादय चांवल को ठिकाने लगाया जा रहा है। इस प्रक्रिया के चलते अमानक स्तर का चांवल प्रदाय करने वाले राईस मिलर्स तथा निगम के गुणवत्ता निरीक्षक जिनकी सांठगांठ से यह चांवल खरीदा गया है उन पर कोई कार्यवाही किये बिना उन्हें बचाने का जुगाड किया जा रहा है। जो चांवल अबतक की गई अनेक जांचों में अखादय घोषित किया जा चूका है वह अनायास की गई जांच में खाने के काबिल कैसे घोषित कर दिया गया यह सोचनीय प्रश्न है?

नियमानुसार खरीदे गये चावल का मिल पाईट पर मार्कफेड के गुणवत्ता निरीक्षक द्वारा निरीक्षण किया जाना था जो नही किया गया है। खरीदा गया चांवल जिन गुणवत्ता निरीक्षकों द्वारा निरीक्षण किया गया उन पर कोई भी प्रशासनिक कार्यवाही क्यों नही की गई।

कटंगी के राईस मिलर्स दीपिका राईस मिल, सुंगधा राईस मिल, चौरडिया राईस मिल, जयलहरी राईस मिल, सीतादेवी राईस मिल, अन्नपूर्णा राईस मिल, अभिषेक राईस मिल, हंसादेवी राईस मिल, महालक्ष्मी राईस मिल, बालाजी राईस मिल, संतजयरामदास राईस मिल  ने अमानक स्तर का चंावल प्रदाय किया है उन्हें पहले नोटिस देकर चांवल वापस कर मानक स्तर का चावंल जमा कराये जाने हेतु निर्देश दिये गये थे लेकिन उन्होने मानक स्तर का चांवल जमा नही कराया।

हाल ही में प्रदेश स्तर से एक जांच दल ने कटंगी के गोदामों में रखे इस चावल का निरीक्षण किया और सेम्पलिंग एकत्र किये गये जांच दल का प्रतिवेदन अब तक प्राप्त नही हुआ है लेकिन अधिकारिक सूत्रों से पता चला  है कि जांच दल को चांवल खरीदी में गंभीर अनियमिततायें मिली है जिसके आधार पर मिलर्स एवं खरीदी करने वाले निगम के अधिकारी कर्मचारियों पर बडी कार्यवाही किये जाने के संकेत मिले है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week