उत्तराखंड में जमीन फटी: 20000 तीर्थयात्री फंसे

Friday, May 19, 2017

नई दिल्ली। उत्तराखंड से एक बार फिर चिंता वाली खबर आ रही है। चमोली जिले में हो रही लगातार बारिश के कारण शुक्रवार को विष्णुप्रयाग के पास हाथीपहाड़ में जमीन धसक गई। इस भू स्खलन के कारण बद्रीनाथ हाईवे बंद हो गया। करीब 20 हजार तीर्थ यात्री फंस गए हैं। ये सभी चारधाम की यात्रा पर आए थे। अब उन्हे सुरक्षित निकालने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। रेस्क्यू आॅपरेशन कब तक चलेगा कहा नहीं जा सकता। 
.
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जो टूरिस्ट फंसे हैं, उनमें से ज्यादातर चार धाम यात्रा के लिए आए थे। चमोली जिले के रास्ते में एक बड़ी चट्टान के साथ काफी मलबा रास्ते पर गिरा।  एडमिनिस्ट्रेशन ने इन टूरिस्ट्स जिनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं, से कहा है कि वो जिन जगहों पर हॉल्ट्स बनाए गए हैं, वो उनमें रुकें। डिजास्टर मैनेजमेंट ग्रुप और एनडीआरएफ की टीमें रास्ता साफ करने और टूरिस्ट्स को निकालने की कोशिश कर रही हैं। 

बता दें कि चार धाम यात्रा इसी महीने शुरू हुई है और जून के आखिर तक चलेगी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, सबसे ज्यादा परेशानी बद्रीनाथ और जोशीमठ के इलाके में हुई है जो राजधानी देहरादून से करीब 300 किलोमीटर दूर है। 2013 में बाढ़ और बारिश की वजह से करीब पांच हजार लोगों की मौत हो गई थी। इनमें से ज्यादातर श्रद्धालू थे।

कल तक खुल सकता है रास्ता
कलेक्टर आशीष जोशी ने बताया- गुरुद्वारे में ठहरने एवं खाने के तमाम इंतजाम किए गए हैं। हाईवे कल तक खुलने की उम्मीद है। ऐसे में यात्रियों को कर्णप्रयाग, नंदप्रयाग, चमोली, पीपलकोटी, जोशीमठ में रोका जा रहा है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week