आज के दिन आई थी दुनिया की पहली जींस: आज का इतिहास, 20 मई | TODAY IN HISTORY

Saturday, May 20, 2017

राजू जांगिड़/विशेष | ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 20 मई वर्ष का 140 वाँ (लीप वर्ष में यह 141 वाँ) दिन है। साल में अभी और 225 दिन शेष हैं। आज के दिन दुनियाभर में कई ऐतिहासिक घटनाएँ घटी थी। आज ही के दिन 1873 सैन फ्रैंसिस्को के बिजनेसमैन लेवी स्ट्रॉस और दर्जी जेकब डेविस को इसी दिन जीन्स बनाने का पेटंट दिया गया और दुनिया की पहली जीन्स लेवी स्ट्रॉस ने बनाई थी। 

आइए जींस के बारे में कुछ और जानते हैं 
जीन्स डेनिम (कपडे़) के पतलून हैं। मूलतः इन्हें पहनकर मेहनत वाले काम करने के लिए बनाया गया था पर 1950 के दशक मे ये किशोरों के बीच लोकप्रिय हो गये। ऐतिहासिक ब्रांडों में लीवाइस, जोर्डक़ और रैंगलर शामिल हैं। जीन्स आज एक बहुत ही लोकप्रिय अनौपचारिक परिधान है जिसे दुनिया भर मे कई शैलियों और रंगों मे प्रचलित है। " नीले रंग की जींस " की पहचान विशेष रूप से अमेरिका की संस्कृति के साथ, विशेष रूप से पुराने वेस्ट (पश्चिम) अमेरिका के साथ जुडी़ है।

जींस का इतिहास 
जींस के इतिहास पर नज़र डालें तो हमारे सामने 16 वीं शताब्दी की भारतीय निर्यातित मोटा सूती कपडा़ आता है जिसे डुंगारी कहा जाता था। बाद मे इसे नील के रंग में रंग कर मुंबई के डोंगारी किले के पास बेचा गया था। नाविकों ने इसे अपने अनुकूल पाया और इससे बनी पतलूनें वो पहनने लगे।

जीन्स का कपडे़ का निर्माण 1600 की शुरुआत मे इटली के एक कस्बे ट्यूरिन के निकट चीयरी में किया गया था। इसे जेनोवा के हार्बर के माध्यम से बेचा गया था, जेनोवा एक स्वतंत्र गणराज्य की राजधानी थी जिसकी नौसेना काफी शक्तिशाली थी। इस कपडे़ से सबसे पहले जेनोवा की नौसेना के नाविको की पैंट बनायी गयीं क्योंकि इसके नाविको को ऐसी पैंट चाहिये थी जिसे सूखा या गीला भी पहना जा सके तथा इसके पौचों को पोत के डेक की सफायी के समय उपर को मोडा़ जा सके। इन जींसो को सागर के पानी से एक बडे़ जाल में बाँध कर धोया जाता था और समुद्र के पानी उनका रंग उडा़कर उन्हें सफेद कर देता था। जींस का नाम कई लोगों के अनुसार जेनोवा के नाम पर पडा़ है। जींस बनाने के लिये कच्चा माल फ्रांस के निम्स शहर से आता था जिसे फ्रांसीसी मे दे निम कहत थे इसीलिये इसके कपडे़ का नाम डेनिम पड़ गया।

आज के दिन घटी कुछ अन्य महत्वपूर्ण घटनाएं
1900 में हिंदी साहित्‍य के महान कवि सुमित्रानंदन पंत का जन्‍म आज ही के दिन हुआ था।
1965 में मिस्र में पाकिस्‍तानी बोइंग विमान 720 - B के क्रैश हो जाने से तकरीबन 121 लोगों की मौत हुई थी।
आज ही के दिन 1983 में दक्षिण अफ्रीका की राजधानी प्रीटोरिया में एक कार बम धमाका हुआ था जिसमें 16 लोग मारे गए थे जबकि 130 से ज़्यादा ज़ख्मी हो गए थे।
2012 में इटली में आए भूकंप में 27 लोगों की मौत हुई थी।

आज के दिन जन्मे लोग
1941 में गोह चोक टोंग का जन्म हुआ था जो सिंगापुर के दूसरे प्रधानमंत्री के रहे थे।
1918 में पीरू सिंह जो भारतीय सेना के वीर अमर शहीदों है।
1900 में हिन्दी कवि सुमित्रानन्दन पंत का जन्म हुआ।

आज के दिन जिनका निधन हुआ था
1766 में मल्हारराव होल्कर जो इंदौर के होल्कर वंश के प्रवर्तक थे।
1932 में विपिन चन्द्र पाल जो भारत के 'क्रान्तिकारी विचारों के जनक' थे।
1957 में टी. प्रकाशम जो आंध्रा राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री थे।
1972 में गयाप्रसाद शुक्ल 'सनेही', ब्रजभाषा के प्रसिद्ध कवि थे।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week