तीन तलाक का समर्थन करने वाले OWAISI ने कहा मजहब के नाम पर कानून नहीं बन सकता

Monday, April 10, 2017

नई दिल्ली। तीन तलाक को मजहब के कारण उचित करार देने वाले ऑल इंडिया मजलिस-ए इत्तेहादुल मस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत द्वारा उठाए गए गौरक्षा कानून के मुद्दे का विरोध किया है। ओवैसी ने कहा है कि मजहब और आस्था के नाम पर कोई कानून नहीं बन सकता। 

गौ हत्या के खिलाफ देश में एक कानून पर ओवैसी ने कहा- बीजेपी दोहरी बात बोलती है। नॉर्थ ईस्ट में बीजेपी कहती है कि वहां पर गौ हत्या के खिलाफ कोई बिल नहीं लाएंगे। यह दोहरी नीति क्यों है। ओवैसी ने गौरक्षा के नाम पर हत्याओं का मसला भी उठाया। उन्होंने कहा- मोदी सरकार में गौरक्षा के नाम पर 9 से ज्यादा मुसलमानों की हत्या हो चुकी है। ओवैसी ने अलवर की घटना का भी जिक्र किया। वो बोले कि ऐसी घटनाओं से देश को क्या फायदा हो रहा है।

आस्था के नाम पर कानून नहीं
असदुद्दीन ओवैसी का कहना है कि कानून मजहब की बुनियाद पर नहीं बनाया जाता है। आस्था के आधार पर भी कानून नहीं बनाए जाते। ओवैसी का मानना है कि अगर मजहब के नाम पर कानून बनाए गए तो हिंदू राष्ट्र हो जाएगा। ये देश के लिए ठीक नहीं है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं