सेल्फी लवर्स के लिए ब्रांड NEW लोकेशन, फिर कभी नहीं मिलेगी

Saturday, April 8, 2017

रायपुर। देश बदल रहा है। जमाना बदल चुका है। जमाना अब सेल्फी लवर्स का है। एक अदद सेल्फी के लिए लोग रेल के आगे कूद जाते हैं, पुल से छलांग लगा देते हैं। ऐसे ही सेल्फी के दीवानों के लिए एक नई लोकेशन बन रही है। यह एक चमत्कारी लोकेशन है। हर रोज बदल जाती है। यानि हर सेल्फी के लिए एक नई लोकेशन बन जाती है। 

जी हां, ये हैं रेत के महल जो हर रोज बदल जाते हैं। यह महलनुमा आकृति जांजगीर से करीब 23 किलोमीटर दूर देवरी-चिचौली गांव से गुजरी हसदेव नदी में बनी है। तेज गर्मी ने नदी को सुखा दिया है, किनारों पर बच गई है सिर्फ रेत। गर्म हवाओं के थपेड़ों ने इसी रेत को महल की आकृति दे दी है। इनकी ऊंचाई होगी लगभग चार फीट। रेत पर ऐसे महल बनते और मिटते रहते हैं। हवाओं का रुख बदलते ही ये ढह जाते हैं।

कौतुहल जगाने वाली यह तस्वीर वाइल्डलाइफ व नेचर फोटोग्राफर सत्यप्रकाश पाण्डेय ने खींची हैं लेकिन जब आप इस लोकेशन पर पहुंचोगे तो आपको यह सीन दिखाई नहीं देगा। महल अपनी आकृति बदल चुका होगा। है ना मजेदार। एक ऐसी लोकेशन जो दुनिया में कुछ देर के लिए सिर्फ एक बार बन रही है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं