भ्रष्ट अधिकारी को BJP ने विधायक बनाया अब संपत्ति जब्त होगी

Tuesday, April 11, 2017

नई दिल्ली। बिहार में भ्रष्टाचार के आरोपी अधिकारी ने ऐच्छिक सेवानिवृत्ति लेकर भाजपा ज्वाइन की। भाजपा ने उसे सहर्ष गले लगाया, स्वागत किया। इतना ही नहीं विधानसभा का टिकट भी दिया और भाजपा की लहर में वो विधायक भी बना। अब विशेष अदालत में उसे भ्रष्ट अधिकारी प्रमाणित पाया गया है और उसकी चल अचल संपत्ति जब्त करने के आदेश दिए गए हैं। बता दें कि सोनेलाल हेम्ब्रम बिहार उत्पाद सेवा के उत्पाद उपायुक्त थे। बाद में उन्होंने रिटायरमेंट लेकर भाजपा ज्वाइन की। 

यह मामला तब का है जब हेम्ब्रम राज्य उत्पाद एवं मद्य निषेध सेवा के अधिकारी थे। वे भागलपुर में बतौर उत्पाद उपायुक्त तैनात थे। हेम्ब्रम की आय से अधिक सपंत्ति का मामला आयकर विभाग द्वारा 27 जनवरी, 1997 को की गई छापेमारी के दौरान पता चला था। इसके बाद निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने भी हेम्ब्रम की काली कमाई की जांच शुरू कर दी थी।

हेम्ब्रम की काली कमाई को जब्त करने में निगरानी को करीब 17 साल तक अदालती लड़ाई लडऩी पड़ी। इस बीच हेम्ब्रम ऐच्छिक सेवानिवृत्ति लेकर भाजपा में शामिल हो गए। भाजपा ने उन्हे टिकट दिया। उन्होंने भाजपा के टिकट पर भागलपुर के समीप कटोरिया विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 2010 में चुनाव लड़ा और विधायक बन गए।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं