बिस्तर पर लेटे-लेटे कमाइए 11 लाख रुपए मात्र 2 माह में

Sunday, April 9, 2017

दो महीने में 16 हजार यूरो यानी करीब 11 लाख रुपये। इतने रुपये कमाने के लिए इंसान को क्या-क्या नहीं करना पड़ता। लेकिन अब आप इतने रुपये सिर्फ बिस्तर पर लेटे-लेटे ही कमा सकते हैं। फ्रांस के वैज्ञानिक ऐसे स्वस्थ युवाओं की खोज कर रहे हैं जो लगातार 60 दिनों तक पीठ के बल बिस्तर पर लेटकर रहने की कूवत रखते हैं। इस नौकरी का प्रस्ताव फ्रांस के इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस मेडिसिन एंड साइकोलॉजी के वैज्ञानिक माइक्रोग्रेविटी का अध्ययन करने के लिए लोगों को दे रहे हैं। इस मजेदार नौकरी के लिए सैकड़ों लोग आवेदन कर चुके हैं। दुनिया में ऐसी ही कुछ मजेदार और दिलचस्प नौकरियों और भी हैं।

फ्रांस के वैज्ञानिक माइक्रोग्रेविटी का अध्ययन करने के लिए जिन उम्मीदवारों को चुनेंगे उन्हें दो महीने तक एक पल के लिए भी बिस्तर से उठने का मौका नहीं दिया जाएगा। यहां तक कि उन्हें शौचालय भी बिस्तर पर ही लेटे-लेटे ही करना होगा। चयनित उम्मीदवार अगर बीच में नौकरी छोड़ना चाहें तो वह ऐसा नहीं कर सकेंगे। इन उम्मीदवारों पर वैज्ञानिक एक खास तरह का अध्ययन करेंगे। इसके जरिए वे अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र में लंबे समय तक भारहीनता का अनुभव करने पर इंसान के शरीर में होने वाले बदलाव को जानना चाहते हैं। ताकि इन बदलावों का पता लगाने के बाद उनसे निपटने का तरीका खोजा जा सके। इस प्रयोग के बाद प्रतिभागियों को ठीक वैसा ही अनुभव होगा जैसा अंतरिक्ष में रहने वाले यात्रियों को होता है।

24 उम्मीदवार को मिलेगा मौका 
इस नौकरी के लिए दुनियाभर से सिर्फ 24 उम्मीदवार ही चयनित किए जाएंगे। बिस्तर पर दो महीने गुजारने से पहले उनका दो हफ्ते तक मेडिकल परीक्षण होगा। इस टेस्ट में परखा जाएगा कि उन्हें किसी तरह की बीमारी या एलर्जी तो नहीं हैं। इसके लिए उम्मीदवारों के चालीस से अधिक टेस्ट होंगे। धूम्रपान करने वालों के लिए यह नौकरी नहीं हैं। इस अध्ययन से जुड़े डॉक्टर अर्नों ब्रेक के मुताबिक इस नौकरी के लिए केवल पुरुष उम्मीदवार ही आवेदन कर सकते हैं। उम्मीदवारों का अधिकतम मास बॉडी इनडेक्स (बीएमआई) 22 से 27 के बीच होना चाहिए। नौकरी के लिए उम्र सीमा 20 वर्ष से लेकर 40 वर्ष निर्धारित की गई है। प्रयोग के बाद उम्मीदवारों को दोबारा दो हफ्ते तक मेडिकल परीक्षण से गुजरना पड़ेगा।

सोने के लिए नासा देगा 40 लाख 
फ्रांस के वैज्ञानिक जहां लेटे रहने के लिए 11 लाख रुपये दे रहे हैं वहीं अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के वैज्ञानिक सोने के लिए लोगों को सालाना 40 लाख रुपए वेतन देते हैं। उम्मीदवारों के सो जाने पर वैज्ञानिक उनपर कई तरह के प्रयोग करते हैं। इन प्रयोग में भारहीनता के बीच अंतरिक्ष यात्रियों की नींद पर पड़ने वाले असर को परखा जाता है। साधारण बिस्तर पर सोने से बजाए इस कार्य के लिए चुने गए लोगों को एक विशेष तरह के उपकरण पर सोना पड़ता है। इसके माध्यम से वैज्ञानिक नींद के दौरान शरीर में होने वाले परिवर्तन व उन परिवर्तनों से मस्तिष्क में पड़ने वाले असर का परीक्षण करते हैं।

लाइन में लगकर कमाएं 67 हजार 
आप को जानकर हैरानी होगी कि चीन और जापान की कई निजी कंपनियां लाइन में खड़े होने के लिए अपने कर्मचारियों को सप्ताह में 67 हजार रुपये देती हैं। इसका कारण है कि चीन और जापान में लोगों के पास समय की बेहद कमी होती हैं। ऐसे में कई कंपनियां उन लोगों को नौकरियां देती हैं जो लम्बे समय तक लाइन में खड़े रह सकें। ये लाइनें फिल्म के टिकट से लेकर रेस्तरां तक के लिए होती हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week