खून से लथपथ पड़ा था पति, मदद की भीख मांग रही थी पत्नी, लोग VIDEO बना रहे थे

Sunday, March 19, 2017

लुधियाना। लव मैरिज के बाद कोर्ट में पेशी करके वापस जा रहे नौजवान पंकज शर्मा को नाखुश ससुरालियों ने कोर्ट कांप्लेक्स के बाहर ही हथौड़े और तेजधार हथियारों से हमला कर गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। भीड़भाड़ वाला इलाका होने और घटनास्थल पर पुलिस की मौजूदगी के बावजूद हमलावर पंकज को सरेआम सड़क पर पीटते रहे, लेकिन कोई बचाने तक नहीं आया। 

इतना ही नहीं, हमले के बाद जिंदगी और मौत से जूझ रहा जख्मी पंकज आधे घंटे तक पानी के लिए तड़पता रहा लेकिन लोग मोबाइल पर वीडियो बनाने में ही लगे रहे। हमलावरों में ससुराल पक्ष के लोगों के साथ एक दर्जन बाहर के लोग भी थे। इसी दौरान उसकी पत्नी रमनजोत कौर को उसकी मां अमनदीप कौर और एक अन्य लड़की करमजीत कौर बालों से घसीटते हुए कार की तरफ ले जाने की कोशिश करती रहीं। दोनों में हाथापाई भी हुई। लोगों के इकट्‌ठा होने पर दोनों महिलाओं ने उसे छोड़ दिया। हमलावरों ने पंकज के सिर, पीठ, छाती और पेट के नीचे दातर से कट मारे, जबकि उसके मुंह पर हथौड़े से वार कर दांत तोड़ दिए और सरेआम फरार हो गए। बाद में लोगों ने अमनदीप कौर और करमजीत कौर को पकड़कर कोर्ट कांप्लेक्स चौकी की पुलिस के हवाले कर दिया। हमलावर जाते हुए पंकज का मोबाइल फोन भी छीन ले गए। कई लोगों ने इस दौरान कॉल की लेकिन एंबुलेंस नहीं पहुंची तब रमनजोत ने पंकज के दोस्त जसविंदर सिंह की सहायता से जख्मी पंकज को रिक्शे से ईएसआई अस्पताल पहुंचाया। वहां से उसे सीएमसी अस्पताल रेफर कर दिया गया। देर रात तक पंकज की हालत गंभीर बनी हुई थी। थाना डिवीजन पांच की पुलिस ने जसविंदर सिंह के बयानों पर रमनजोत की मां अमनदीप कौर, पिता सोहन सिंह, भाई नवजोत सिंह, जश्न और करमजीत कौर समेत अज्ञात लोगों पर जानलेवा हमले का मामला दर्ज किया है।

मदद मांगती रही पत्नी सभी तमाशा देखते रहे
रमनजोत कौर ने बताया कि हमले के दौरान वह लोगों से उसे और पंकज को बचाने के लिए कहती रही, लेकिन सभी तमाशा देखते रहे। हमले के बाद जख्मी पंकज करीब आधे घंटे तक तड़पते हुए पानी मांगता रहा, लेकिन किसी ने पानी तक नहीं दिया। लोग उसकी वीडियो और फोटो बनाने में मशगूल रहे। यहां तक कि किसी ने उसे अस्पताल ले जाने में भी मदद नहीं की। फिर रिक्शा से पंकज को ईएसआई अस्पताल ले गए। घटनास्थल से थोड़ी दूरी पर दो पुलिस चौकियां होने के बावजूद कोई भी मौके पर नहीं आया। करीब दो घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची।

घर से भागकर की थी शादी
जानकारी के अनुसार शिमलापुरी के दर्शन नगर का रहने वाला पंकज शर्मा(27) इलेक्ट्रीशियन है। कुछ साल पहले से वह परिवार समेत सतगुरु नगर में रह रहा था। करीब सात साल पहले उसके साथ की गली में रहती रमनजोत कौर(21) से प्रेम संबंध बन गए। तीन साल पहले पंकज परिवार समेत दर्शन नगर में शिफ्ट हो गया। दोनों ने अपने परिवार से शादी की बात की, लेकिन रमनजोत के परिवार ने शादी से इनकार कर दिया। इसी साल 14 फरवरी को दोनों ने घर से भागकर पहले मंदिर में शादी की और फिर 15 फरवरी को लुधियाना सेशन कोर्ट से इंटरिम पुलिस प्रोटेक्शन का ऑर्डर ले लिया था। जिस पर कोर्ट ने शनिवार की तारीख तय की थी। शादी के बाद दोनों पंकज के घर ही रहते थे। पंकज अपनी पत्नी रमनजोत और दोस्त जसविंदर सिंह के साथ पेशी पर आया। इसी दौरान रमनजोत के परिवार ने पंकज पर पहले से शादीशुदा होने का आरोप लगाकर एक महिला करमजीत कौर को अदालत में पेश कर दिया। जिस पर अदालत ने अगली तारीख डाल दी। पेशी भुगत जैसे ही तीनों बाहर निकले तो पहले से घात लगाकर बैठे रमन के परिवार ने उन पर हमला कर दिया।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week