Tattoos जो आपके बीमार होते ही चमकने लगेगा

Friday, March 10, 2017

फिल्म गजनी में आमिर खान की तरह बॉडी पर फैशनेबल टैटू तो आपने कई बार देखे होंगे। लेकिन इंसान के व्यवहार और शारीरिक गड़बड़ियों के बारे में बताने वाले टैटू के बारे में आपने कभी नहीं सुना होगा। आज हम आपको ऐसे ही कुछ टैटू के बारे में बता रहे हैं। वैज्ञानिकों ने एक ऐसे इलेक्ट्रॉनिक टैटू का निर्माण किया है। यह टैटू मनुष्य के शरीर को मॉनीटर कर सकता है। टैटू शरीर के तापमान, ब्लड प्रेशर, दिल की धड़कन और तनाव के स्तर की आसानी से पहचान कर पाता है। इलेक्ट्रोनिक टैटू में एक एलईडी लाइट होती है। सेहत खराब होने पर यह लाइट जला खतरे का संकेत देती है। 

इसके एक्टिव होते ही मरीज आसानी से उपचार के विकल्प खोज सकता है। इतना ही नहीं शराब जैसे नशीले पदार्थों की लत छुड़वाने में भी ये बेहद कारगर है। शरीर में अल्कोहल की मात्रा ज्यादा होने पर टैटू नशीले पदार्थों से परहेज करने की राय देता है।

टैटू से घर पर मंगवाएं पिज्जा
ब्रिटेन की पिज्जा बनाने वाली एक कंपनी ने हाल ही में ऐसा टेंपरेरी टैटू जारी किया था जिससे आप कहीं भी, कभी भी पिज्जा ऑर्डर कर सकते हैं। दरअसल, पिज्जा के रूप में नजर आने वाला यह टैटू एक क्यूआर (क्विक रिस्पॉन्स)कोड है। इसलिए क्यूआर कोड स्कैनर के जरिए इसे स्कैन करने पर आप तुरंत पिज्जा ऑर्डर कर सकते हैं। कंपनी ने शुरूआत में इस तरह के 40 टैटू पेश किए थे। लेकिन फैशन के प्रति लोगों का लगाव और जल्दी पिज्जा ऑर्डर करने के वजह से कंपनी को बाद में भी इस तरह के टैटू जारी करने पड़े।

कैसे तैयार हुआ इलेक्ट्रॉनिक टैटू
वैज्ञानिकों ने इस टैटू को इलेक्ट्रोनिक पेंट, नैनोशीट, एलईडी लाइट और एक चिप की मदद से तैयार किया गया है। नैनोशीट इंसान के बालों से करीब 120 गुना बारीक है। टैटू बनाने के लिए सबसे पहले नैनोशीट को शरीर पर चिपकाया जाता है। इसके बाद इलेक्ट्रोनिक पेंट से इस पर टैटू को डिजाइन किया जाता है। टैटू बनाते वक्त एक एलईडी लाइट और स्मार्टचिप इसमें फिट की जाती है। इलेक्ट्रोनिक पेंट के जरिए ही एलईडी लाइट और स्मार्टचिप को ऊर्जा मिलती है। टैटू चिप के जरिए हमारे समार्ट डिवाइस से भी कनेक्ट हो सकता है। इस टैटू को घर के सामान्य तापमान में भी आसानी से डिजाइन किया जा सकता है। यह एक टेंपरेरी टैटू है जिसे आप जब चाहें तब हटा सकते हैं।

स्मार्ट डिवाइस को कंट्रोल करने वाला टैटू
अमेरिकी यूनिवर्सिटी मैसाच्यूसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलोजी (एमआईटी) के वैज्ञानिक ने हाल ही में एक मेटैलिक बॉडी टैटू डिजाइन किया था। इस अस्थायी (नॉन पर्मानेंट) टैटू से स्मार्ट डिवाइस को कंट्रोल किया जा सकता है। खोजकर्ताओं ने इस टैटू को डुओ स्किन टैटू नाम दिया है। इस टैटू की पत्तियों को सोने (गोल्ड) से बनाया गया है। टैटू पर पानी की बूंदों का कोई असर नहीं पड़ता। हालांकि डुओ स्किन टैटू को बाजार में अभी तक आधिकारिक तौर पर नहीं उतारा गया है। लेकिन आने वाले समय में इस तरह की टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल सामान्य हो जाएगा।

स्मार्ट डिवाइस पर काम को आसान बनाए
स्मार्ट टैटू को लैपटॉप या स्मार्टफोन के इनपुट डिवाइस यानी टचपैड की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है। हाथ पर बने डुओ स्किन टैटू के जरिए आप कंप्यूटर या स्मार्टफोन को चला सकते हैं। इसके अलावा यह एनएफसी (नियर फील्ड कम्यूनिकेशन) पर आधारित है। यानी यह मोबाइल के एनएफसी से कनेक्ट हो कर फोटो, विडियो और डाटा शेयर कर सकता है। टैटू बनाने वाले निर्माताओं का कहना है कि इसे बनाने में उन्हें करीब 11,700 रुपये खर्च करने पड़े हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week