किसान: धान का चैक बाउंस, SP से फांसी का फंदा मांगा

Saturday, March 11, 2017

सुधीर ताम्रकार/बालाघाट। इस वर्ष समर्थन मूल्य पर खरीदी गई धान का किसानों को भुगतान कर देने के दावा झूठा साबित हो रहा है। एक तरफ बैंक प्रबंधन की ओर 528 करोड रूपये किसानों के खाते में जमा कर देने की बात कही जा रही है तो दूसरी तरफ एक किसान भुगतान के लिये प्राप्त चेक जो बाउंस हो चुका है भुगतान के लिये सरकारी दफतारों के चक्कर काट रहा है।

अमेंडा सहकारी समिति से एक किसान को जारी हुआ 13524 रूपये का चेक कैश नही हुआ तो किसान ने एसपी कार्यालय पहुचकर इसकी शिकायत की किसाना विवश होकर यह कहने लगा की उसे बेची गई धान की राशि जल्द ही दिलवा दी जाये या फिर उसे मरने के लिये फन्दा दे दिया जाये। 

इसी तरह भरवेली वार्ड नं.16 निवासी किसान रामचरण लिल्हारे जिसके पास 2 एकड जमीन है उसने 13 क्विटंल धान समर्थन मूल्य पर धान खरीदी केन्द्र अमेडा में बेची थी जिसके एवज में उसे जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक बालाघाट से 13 हजार 524 रूपये का चैंक भारतीय स्टेट बैंक भरवेली से भुगतान प्राप्त करने के लिये दिया गया था लेकिन खाते में राशि ना होने की वजह से वह बाउसं हो गया।

किसान रामचरण लिल्हारे ने बताया की उसने प्राप्त चैंक भारतीय स्टेट बैंक भरवेली की शाखा में 23 जनवरी 2017 को जमा किया था उसे 8 फरवरी को यह बताया गया की खाते में राशि ना होने की वजह से चैंक कैश नही हो पाया और बांउस हो गया।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week