Ravenshaw University: छात्र राजनीति के कारण VC Prakash Sarangi ने दिया इस्‍तीफा

Tuesday, March 7, 2017

ओड़िशा: रावेनशॉ यूनिवर्सिटी कटक के वाइस चांसलर प्रकाश चंद्र सारंगी ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। कुलपति ने ये फैसला उन छात्रों के निष्कासन की घोषणा के बाद लिया जिनके ऊपर पिछले साल कैंपस में उपद्रव मचाने का आरोप था। शनिवार को यूनिवर्सिटी के 6 छात्रों को निष्कासित कर उन्हें हॉस्टल से भी हटा दिया गया था।

यूनिवर्सिटी में पिछले साल नवंबर में कैंपस के ही न्यू हॉस्टल और ललितगिरी हॉस्टल के छात्रों के बीच मारपीट हुई थी जिसके जांच के लिए एक इन्क्वायरी गठित की गई थी। इन्क्वायरी में ये सामने आया कि ये 6 छात्र कैंपस में हुए उपद्रव में शामिल थे जिसके बाद उनके निष्कासन का फैसला लिया गया। 

वीसी ने बताया कि मुझसे किसी ने भी पोस्ट छोड़ने को नहीं कहा है। कुछ छात्र इस फैसले के खिलाफ विरोध भी कर रहे हैं लेकिन मैं अपने फैसले पर बना हुआ हूं। जो छात्र विरोध कर रहे हैं वो राजनीति से प्रभावित हैं और मेरे लिए इस राजनीतिक माहौल में काम करना बेहद ही मुश्किल है। प्रकाश सारंगी ने इस्‍तीफे के लिए यूनिवर्सिटी में राजनैतिक दलों के 'दखल' को जिम्‍मेदार ठहराया है।रिपोर्ट्स के मुताबिक, सारंगी ने छह छात्रों के निलंबन के बाद भड़के गुस्‍से के चलते दबाव में आकर इस्‍तीफा दिया है।

सारंगी ने गवर्नर एससी जमीर को अपना इस्‍तीफा सौंपा है। उन्‍होंने यूनिवर्सिटी में राजनैतिक दलों के ‘दखल’ को इस्‍तीफे के लिए जिम्‍मेदार ठहराया है। सारंगी ने कहा कि ”यूनिवर्सिटी में राजनैतिक दलों के दखल से कैंपस की शांति भंग हो रही है। राजनैतिक पार्टियों से प्रभावित छात्र शिक्षा की बजाय, राजनीति की भाषा बोल रहे हैं।” रिपोर्ट्स के मुताबिक, सारंगी ने छह छात्रों के निलंबन के बाद भड़के गुस्‍से के चलते दबाव में आकर इस्‍तीफा दिया है।

यूनिवर्सिटी कैंपस के भीतर दो हॉस्‍टलों के बीच की लड़ाई को लेकर 4 मार्च को छह छात्रों को निलंबित और 10 अन्‍य को चेतावनी दी गई थी। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने निलंबित छात्रों को सेमेस्‍टर परीक्षाओं और अन्‍य तीन को दो सेमेस्‍टर परीक्षाओं में बैठने से रोक दिया था। वे छात्र कथित तौर पर 21 नवंबर, 2016 को यूनिवर्सिटी के न्‍यू हॉस्‍टल और ललितगिरी हॉस्‍टल के बीच हुई मारपीट में शामिल थे।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week