JABALPUR: होली से अब तक 3 हत्याएं, दहशत

Thursday, March 16, 2017

जबलपुर। होली को शांतिपूर्ण निपटाने के लिए पिछले 15 दिन से पुलिस गुंडे-बदमाशों के साथ सुरक्षा के कड़े इंतजाम में जुटी रही। पुलिस की सख्ती का माहौल भी दिखाई दिया, लेकिन तीन दिन में लगातार तीन हत्याओं ने पुलिस के तमाम दावों और इंतजामों की पोल खोलकर रख दी। शहपुरा, बेलखेड़ा और गोहलपुर के अमखेरा में हत्या की वारदातों के कारण अभी तक तनाव का माहौल बना हुआ है। पुलिस अफसर सकते में हैं, आंकड़ों का हवाला देकर खुद की पीठ थपथपाई जा रही है।

शहपुरा में चाचा-भतीजे ने किया कत्ल
होलिका दहन की शाम शहपुरा के खिरका खेड़ा गांव में रहने वाले 24 वर्षीय बिट्टू भूमिया को गांव के सुनील चढ़ार और उसके चाचा बबलू चढ़ार ने आपसी रंजिश के चलते मौत के घाट उतार दिया। शहपुरा थाना प्रभारी आसिफ इकबाल के अनुसार 12 मार्च की शाम राजू जैन के खेत के पास बिट्टू भूमिया घायल हालत में पड़ा था। जिसे शासकीय अस्पताल ले जाया गया, जहां घायल बिट्टू ने बताया कि वह गांव में अपने साथी दुर्गेश, बबलू व कंगारू के साथ होली खेल रहा था। इसी दौरान बिट्टू को पता चला कि देवी बर्मन के साथ सुनील चढ़ार ने मारपीट की है, इसी बात पर बिट्टू अपने साथियों के साथ नहर किनारे पहुंचा, जहां सुनील चढ़ार और उसका चाचा बबलू मिले, बिट्टू के पूछते ही दोनों ने बके और लाठी से उस पर हमला कर दिया। पीठ, और गर्दन में गंभीर चोटों के कारण बिट्टू की हालत बिगड़ती चली गई जिसे मेडिकल अस्पताल ले जाया गया लेकिन वहां उसकी मौत हो गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी सुनील और उसके चाचा बबलू को गिरफ्तार कर लिया गया है।

अमखेरा में युवक का कत्ल, तनाव
दूसरी वारदात होली की देर रात गोहलपुर थाना क्षेत्र के अमखेरा इलाके में हुई। जिसमें क्षेत्र के दो बदमाशों ने मामूली बात पर दो युवकों को घर से बुलाकर चाकू से हमला कर दिया। जिसमें एक युवक की मंगलवार को सुबह उपचार के दौरान मौत हो गई।

12 मार्च होलिका दहन की रात अमखेरा में गोलू उर्फ धर्मेन्द्र और विजय चौधरी बार-बार तेजी से बाइक चलाकर ओम नगर से निकल रहे थे। जिसके कारण मोंटी, परवजे और रतन ने उन्हें रोककर धीरे गाड़ी चलाने की हिदायत दी। लेकिन धर्मेन्द्र ने चाकू निकालकर सभी को धमकाया और फिर चला गया। दूसरे दिन होली की शाम धर्मेन्द्र और विजय ने मोंटी, रतन और परवेज को समझौते के लिए प्रहलाद मूर्तिकार चौक पर बुलाया। लेकिन वहां पहुंचते ही धर्मेन्द्र व विजय ने चाकू से तीनों पर दनादन हमले कर दिया। मोंटी और रतन तो किसी तरह बच गए लेकिन परवेज को सिर में चाकू की घातक चोटें पहुंचीं। जिसके बाद तीनों घायलों को मेट्रो अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन रात करीब 1.30 बजे नर्मदा नगर निवासी 18 वर्षीय परवेज अंसारी की मौत हो गई। पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज कर आरोपी धर्मेन्द्र और विजय चौधरी को गिरफ्तार कर लिया है।

बेलखेड़ा में बुजुर्ग की हत्या
तीसरी वारदात मंगलवार की देर रात बेलखेड़ा थाना क्षेत्र के कूड़ाकला गांव में हुई। जिसमें आपसी रंजिश के चलते 75 वर्षीय वृद्घ को सोते समय उसके ही रिश्तेदारों ने कुल्हाड़ी से दनादन हमले कर मौत के घाट उतार दिया। बेलखेड़ा पुलिस ने बताया कि शारदा चौक गढ़ा में रहने वाले रघुवीर सिंह झारिया की कूड़ाकला गांव में पैतृक सम्पत्ति है। 12 मार्च की शाम रघुवीर गांव पहुंच गया। मंगलवार की रात वह अपने घर पर सो रहा था, तभी रघुवीर का रिश्तेदार नरेश झारिया अपने साथी, संतोष, मुन्ना व अन्य दो के साथ वहां पहुंचा और रघुवीर पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। जिसमें रघुवीर की मौत हो गई। पुलिस ने नरेश और उसके दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि अन्य की तलाश चल रही है। पुलिस के अनुसार रघुवीर और नरेश के बीच लंबे समय से सम्पत्ति के बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा था।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week