सहकारी बैंकों संविदा कर्मचारियों ने नई भर्ती के खिलाफ मंत्री को दिया ज्ञापन

Friday, March 3, 2017

भोपाल। सहकारिता विभाग अंतर्गत को आपरेटिव बैंकों में विगत दस वर्षो से अपनी उत्कृष्ट सेवाएं दे रहे संविदा बैंक कर्मचारियों, कम्प्यूटर आपरेटरों को हटाकर नियमित नई भर्ती किये जाने के विरोध में मप्र संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर, सहकारी समिति कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अशोक मिश्रा के नेतृत्व में हजारों संविदा बैंक कर्मचारियों ने आज सुबह सहकारिता के निवास पर पहुंचकर सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग को ज्ञापन सौंपकर, कोआपरेटिव बैंकों में भर्ती के लिए निकाले गये विज्ञापन को निरस्त करते हुए पूर्व से कोआपरेटिव बैंकों में कार्य कर रहे संविदा बैंक कम्प्यूटर आपरेटरों, कर्मचारियों का संविलयन विज्ञापन में निकाले गये नियमित पदों पर किये जाने की मांग की। 

गौरतलब है कि पूरे प्रदेश के समस्त कोआपरेटिव बैंकों में कम्प्यूटराईज्ड किये जाने सभी कोआपरेटिव बैंकों में कोरबैंकिंग किये जाने के लिए इन्हीं संविदा बैंक कम्प्यूटर आपरेटरों ने दिन रात मेहनत की है। सरकार के कोआपरेटिव बैंक जब कम्प्यूटराईज्ड हो गये, कर्मचारी ओवरएज हो गये तो सहकारिता विभाग इनको निकालकर नई भर्ती कर रहा है। जिसको लेकर मप्र संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ तथा मप्र सहकारिता कर्मचारी संघ नई भर्ती के विरोध में आ गया है और संविदा कर्मचारियों को नियमित किये जाने की मांग के लिए आंदोलन कर रहा है। 

मंत्री विश्वास सारंग को ज्ञापन देने के पश्चात् संविदा बैंक कर्मचारियों ने मंत्री निवास से चिनार पार्क तक रैली निकाली तथा चिनार पार्क में सभा की जिसको म.प्र. संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर, सहकारिता कर्मचारी संध के अध्यक्ष अशोक मिश्रा ने संबोधित कर आंदोलन की आगामी रणनीति बनाई।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week